लाइव पोस्ट

डैस के तीसरे चरण में 3.88 करोड़ टीवी घर कवर होंगे, तमिलनाडु सबसे बड़ा बाज़ार

मुंबई: डिजिटल एड्रेसेबल सिस्टम (डैस) के तीसरे चरण पर अमल करना बहुत बड़ा व कठिन काम है। सूचना व प्रसारण मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, इस चरण में देश के 630 जिलों और 7709 शहरी इलाकों के लगभग 3.88 करोड़ (3,87,90,000) टेलिविजन घरों को कवर किया जाना है।

तीसरे चरण के एनालॉग केबल टीवी घरों के डिजिटलीकरण काम 29 राज्यों और पांच केंद्रशासित क्षेत्रों में फैला हुआ है। इसमें दिल्ली व चंडीगढ़ भी शामिल हैं, जिन्हें डैसे के पहले व दूसरे चरण में अन्य मेट्रो और अर्ध-मेट्रो शहरों के साथ कवर किया गया था।

तेरह राज्यों में टीवी घरों की संख्या दस लाख से ज्यादा है। सबसे ज्यादा 66 लाख टीवी घर तमिलनाडु में हैं, जबकि सबसे कम 5493 टीवी घर लक्षद्वीप में हैं।

डैस के तीसरे चरण में पहले व दूसरे चरण के आ चुके शहरों/ कस्बो/ इलाकों को छोड़कर बाकी सभी शहरी इलाकों (महापालिका निगमों/ नगर पालिकाओं) को कवर किया जाना है। तीसरे चरण पर अमल की अंतिम तारीख 31 दिसंबर 2015 है।

मल्टी सिस्टम ऑपरेटरों (एमएसओ) और डायरेक्ट-टू-होम (डीटीएच) कंपनियों ने पहले व दूसरे चरण में कुल 2.4 करोड़ सेट-टॉप बॉक्स (एसटीबी) लगाए थे।

डैसे के पहले चरण में मुंबई, दिल्ली, चेन्नई और कोलकाता के चार मेट्रो शहरों को कवर किया, जबकि दूसरे चरण में 2001 की जनगणना के अनुसार 10 लाख से अधिक की जनसंख्या वाले 38 शहरों को कवर किया जा चुका है।

तीसरे चरण के इलाकों की सूची