लाइव पोस्ट
चीन में शुरू हुआ दुनिया का सबसे ऊंचा पुल, 14.40 करोड़ डॉलर से बना
नोटबंदी को लेकर तृणमूल कांग्रेस का पीएम मोदी पर कटाक्ष- 'उम्मीद है कल बड़ी घोषणा करेंगे'
सीतापुर में यात्रियों से भरी बस नदी में पलटी, बचाव कार्य जारी
झारखंड में कोयला खदान के अंदर फंसे मजदूर, 10 शव निकाले गए
दिल्ली हाई कोर्ट ने शादियों के लिए बैंक खाते से 2.5 लाख रुपए निकालने के खिलाफ याचिका खारिज़ की
संसद के दोनों सदनों में नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी दलों का हंगामा जारी
घोषित काले धन पर लगेगा 50% टैक्स, लोकसभा ने आयकर अधिनियम में संशोधन पास किया

एफआईपीबी ने एक बार फिर टाला यू ब्रॉडबैंड का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश का प्रस्ताव

मुंबई: विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) ने एक बार फिर केबल ब्रॉडबैंड कंपनी यू ब्रॉडबैंड इंडिया लिमिटेड (वाईबीआईएल) के प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के प्रस्ताव पर फैसला टाल दिया है।

यू ब्रॉडबैंड ने सरकार से अनुरोध कर रखा है कि उसे शेयरों की अदला-बदली के ज़रिए निवासी शेयरधारकों को 20,58,759 इक्विटी शेयर जारी करने के बदले अपनी डाउनस्ट्रीम कंपनी डिजिटल आउटसोर्सिंग प्राइवेट लिमिटेड (डीओपीएल) के 9,79,875 इक्विटी शेयर खरीदने की इजाज़त दी जाए। डीओपीएल केबल टीवी के बिजनेस से जुड़ी हुई है।

एफआईपीबी ने पैक्ट पब्लिशिंग सर्विसेज़ इंडिया की होल्डिंग कंपनी ब्रिटेन की पैक्ट पब्लिशिंग लिमिटेड को पहले सब्सक्राइबर के रूप में 99 प्रतिशत इक्विटी शेयर आवंटित करने का प्रस्ताव भी खारिज कर दिया है।

एफआईपीबी की सिफारिशों के आधार पर सरकार ने चार एफडीआई प्रस्तावों को मंज़ूरी दी है। इनमें से तीन प्रस्ताव को शून्य मूल्य के हैं जबकि शेयरखान से जुड़े एक प्रस्ताव में 2060 करोड़ रुपए का एफडीआई आना है।