लाइव पोस्ट

हैथवे, आईएमसीएल सब्सिडियरी को अनंतिम लाइसेंस; सेवन स्टार का लाइसेंस अखिल भारतीय

मुंबई: सूचना व प्रसारण मंत्रालय ने अक्टूबर महीने में 31 अनंतिम लाइसेंस मल्टी-सिस्टम ऑपरेटर (एमएसओ) को दिए हैं।

हैथवे केबल एंड डेटाकॉम की सब्सिडियरी हैथवे एमसीएन और इंडसइंड मीडिया एंड कम्युनिकेशंस लिमिटेड (आईएमसीएल) की सब्सिडियरी सांगली डिजिटल मीडिया सर्विसेज़ उन 31 कंपनियों में से हैं जिन्हें अनंतिम लाइसेंस मिले हैं।

हैथवे एमसीएन को जालना, परभणी, हिंगोली, नांदेड़, लातूर, बीड व उस्मानाबाद सहित मराठवाड़ा क्षेत्र के ज़िलों के लिए लाइसेंस मिला है, जबकि सांगली मीडिया सर्विसेज़ को महाराष्ट्र के लिए पंजीकरण मिला है।

प्रसारण मंत्रालय ने मुंबई के सेवन स्टार के परिचालन के क्षेत्र को संशोधित कर पूरा भारत कर दिया है। उसने इन्येज़ नेटवर्क कम्युनिकेशन और सैटकॉम सैटेलाइट नेटवर्क को भी पूरे भारत के लिए लाइसेंस दिया है।

ये पंजीकरण तमिलनाडु, महाराष्ट्र, कर्नाटक, गुजरात, हरियाणा, राजस्थान, बिहार और उत्तर प्रदेश के राज्यों के लिए जारी किए गए हैं।

प्रसारण मंत्रालय ने कंपनी से मिले अनुरोध के बाद कोलकाता वीएक्सएल डिजिटल का अनंतिम लाइसेंस रद्द कर दिया है। इसे पश्चिम बंगाल के तीसरे व चौथे चरण के लिए असम, बिहार, उड़ीसा, सिक्किम, झारखंड और त्रिपुरा के अलावा कोलकाता, हावड़ा, पटना और रांची के लिए पंजीकरण मिला था।

अनंतिम पंजीकरण की कुल संख्या 31 अक्टूबर 2016 तक 804 हो गई है।

कोई स्थाई पंजीकरण अक्टूबर में नहीं दिया गया। वहीं, प्रसारण मंत्रालय ने दो कंपनियों के संचालन क्षेत्र को संशोधित किया है। आंध्र प्रदेश के श्री साई कम्युनिकेशंस के परिचालन का क्षेत्र पूरा भारत कर दिया गया है, जबकि सिटी मौर्य केबल नेट का परिचालन बिहार के पूरे राज्य के लिए संशोधित किया गया है।

प्रसारण मंत्रालय ने 12 कंपनियों के आवेदनों को खारिज़ कर दिया, क्योंकि वे लगभग सभी मामलों में अधूरे थे। इसमें हैथवे की सब्सिडियरी कंपनी हैथवे भास्कर सीबीएन मल्टीनेट भी शामिल है। इसका नाम बाद में हैथवे सीबीएन मल्टीनेट कर दिया गया है। यह सब्सिडियरी छत्तीसगढ़ में कामकाज कर रही है। रद्द हुए कुल पंजीकरण की संख्या अब 42 पर पहुंच गई है।

List_of_Provisional_Registrations_of_MSOs_as_on_30.10.2016