लाइव पोस्ट

एयरटेल डिजिटल टीवी ने दूसरी तिमाही में जोड़े चार साल के सबसे ज्यादा ग्राहक

मुंबई: डायरेक्ट-टू-होम (डीटीएच) ऑपरेटर एयरटेल डिजिटल टीवी ने चालू वित्त वर्ष 2016-17 में 30 सितंबर 2016 को समाप्त दूसरी तिमाही के दौरान शुद्ध स्तर पर 2.56 लाख सब्सक्राइबर जोड़े हैं। यह कंपनी द्वारा पिछली 17 तिमाहियों या लगभग चार साल में दूसरी तिमाही में जोड़े गए सबसे ज्यादा सब्सक्राइबर हैं।

साल भर पहले 30 सितंबर 2015 को समाप्त तिमाही में उसने शुद्ध स्तर पर 1.64 लाख सब्सक्राइबर जोड़े थे।

वहीं, 30 जून 2016 को समाप्त इससे ठीक पिछली तिमाही में एयरटेल डिजिटल टीवी ने शुद्ध रूप से 4.24 लाख सब्सक्राइबर जोड़े थे जो चार साल में किसी भी तिमाही में शुद्ध रूप से जोड़े गए सब्सक्राइबरों का उच्चतम स्तर था।

कंपनी का कुल सब्सक्राइबर आधार अब ठीक पिछली तिमाही के 1.21 करोड़ से 2.1 प्रतिशत बढ़कर 1.24 करोड़ पर पहुंच गया है।

एआरपीयू

आलोच्य तिमाही के दौरान एयरटेल डिजिटल टीवी की प्रति यूज़र औसत आय (एआरपीयू) ठीक पिछली के 233 रुपए से घटकर 232 रुपए पर आ गई।

साल भर पहले की समान अवधि में एयरटेल डिजिटल टीवी की एआरपीयू 224 रुपए दर्ज की गई थी।

चर्न की दर

इस दौरान कंपनी की प्रति माह चर्न की दर ठीक पिछली तिमाही के 0.8 प्रतिशत से 50 प्रतिशत बढ़कर 1.2 प्रतिशत हो गई। लेकिन पिछले वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में चर्न की दर इससे ज्यादा 1.3 प्रतिशत रही थी।

Airtel-Digital-TV-Services-cash-flow-Q2-1

परिचालन लाभ

डीटीएच ऑपरेटर का परिचालन लाभ (ब्याज, टैक्स, मूल्यह्रास व अमोर्टिजेशन से पूर्व लाभ) पिछली तिमाही के 301.1 करोड़ रुपए की तुलना में 303 करोड़ रुपए पर कमोबेश स्थिर रहा है। साल भर पहले की समान तिमाही में उसका परिचालन लाभ 234.3 करोड़ रुपए रहा था।

इस बार उसका परिचालन लाभ मार्जिन 35.5 प्रतिशत रहा है, जबकि ठीक पिछली तिमाही में 36 प्रतिशत था।

वहीं अगर मूल्यह्रास व अमोर्टिजेशन के बाद ब्याज व टैक्स पूर्व लाभ की बात करें तो वो इस दौरान ठीक पिछली तिमाही के 121.9 करोड़ रुपए से घटकर  69.9 करोड़ रुपए पर आ गया है। उसका यह लाभ साल भर पहले 17 करोड़ रुपए रहा था।

Airtel-Digital-TV-Services-Quarter-ended-Q2

आय की स्थिति

सितंबर 2016 की तिमाही में एयरटेल डिजिटल टीवी की आय ठीक पिछली तिमाही के 836.9 करोड़ रुपए से बढ़कर 854.5 करोड़ रुपए हो गई। साल भर पहले की समान अवधि में उसकी आय 706.8 करोड़ रुपए रही थी।

पूंजीगत खर्च

आलोच्य तिमाही के दौरान कंपनी ने 254.1 करोड़ रुपए का पूंजीगत व्यय किया है, जबकि ठीक पिछली तिमाही में उसने 203 करोड़ रुपए का पूंजीगत व्यय किया था। साल भर की पहले समान तिमाही में उसका पूंजीगत खर्च 250.1 करोड़ रुपए रहा था।

इससे सितंबर 2016 की तिमाही में उसका परिचालन फ्री कैश फ्लो 48.8 करोड़ रुपए रहा है, जबकि ठीक पिछली तिमाही में उसका परिचालन फ्री कैश फ्लो 98.1 करोड़ रुपए रहा था।

कंपनी ने इस दौरान अपने प्लेटफॉर्म पर पेश किए जा रहे स्टैंडर्ड डेफिनिशन (एसडी) चैनलों की संख्या ठीक पिछली तिमाही में 469 से बढ़ाकर 480 कर ली। वहीं, हाई डेफिनिशन (एचडी) चैनलों की संख्या 51 से बढ़कर 55 गई, जबकि पेश किए जा रहे कुल चैनलों की संख्या 520 से बढ़कर 535 हो गई।