लाइव पोस्ट
चीन में शुरू हुआ दुनिया का सबसे ऊंचा पुल, 14.40 करोड़ डॉलर से बना
नोटबंदी को लेकर तृणमूल कांग्रेस का पीएम मोदी पर कटाक्ष- 'उम्मीद है कल बड़ी घोषणा करेंगे'
सीतापुर में यात्रियों से भरी बस नदी में पलटी, बचाव कार्य जारी
झारखंड में कोयला खदान के अंदर फंसे मजदूर, 10 शव निकाले गए
दिल्ली हाई कोर्ट ने शादियों के लिए बैंक खाते से 2.5 लाख रुपए निकालने के खिलाफ याचिका खारिज़ की
संसद के दोनों सदनों में नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी दलों का हंगामा जारी
घोषित काले धन पर लगेगा 50% टैक्स, लोकसभा ने आयकर अधिनियम में संशोधन पास किया

टाटा एलेक्सी ने इंटरैक्टिव शैक्षिक सेवा देने के लिए टाटा स्काई को पार्टनर बनाया

मुंबई: टाटा एलेक्सी पांचवीं से लेकर आठवीं क्लास के गणित व विज्ञान के विद्यार्थियों के वास्ते इंटरैक्टिव शैक्षिक कंटेंट बनाने के लिए डायरेक्ट-टू-होम (डीटीएच) ऑपरेटर टाटा स्काई और ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म टाटा क्लासयेज़ के साथ सहयोग कर रहा है।

इस सहयोग के तहत टाटा एलेक्सी ऐसा कंटेंट बनाने में मदद कर रहा है जो विशेष रूप से मॉड्युलर लर्निंग प्रोग्राम के माफिक हो। उसे टाटा स्काई की मूल्य वर्धित सेवाओं के एक्टिव प्लस पोर्टफोलियो के माध्यम से उपलब्ध कराया जाएगा।

टाटा स्काई क्लासरूम एक शैक्षिक सेवा है जिसे टाटा क्लासयेज़ के साथ मिलकर लॉन्च किया गया है। यह एक इंटरैक्टिव सेवा है। टाटा स्काई क्लासरूम का लक्ष्य गणित व विज्ञान में अवधारणा की पढ़ाई को छात्रों के लिए दिलचस्प व आसान बनाकर शिक्षा को एकदम नए प्रतिमान तक ले जाना है।

यह इंटरैक्टिव सेवा शुरू कर दी गई है और फिलहाल टाटा स्काई के सभी सब्सक्राइबरों के लिए उपलब्ध है। इसे पांचवीं से आठवीं क्लास के बच्चों के लिए उनके पाठ्यक्रम के हिसाब से ढाला गया है। यह एनिमेटेड वीडियो कंटेंट के ज़रिए बच्चों को पढ़ाने में मदद करती है ताकि वे विज्ञान और गणित जैसे विषय की मूल अवधारणाओं की बुनियादी समझ हासिल कर सकें।

टाटा स्काई की चीफ कॉमर्शियल अधिकारी पल्लवी पुरी कहती हैं, “टाटा स्काई क्लासरूम बच्चों को मूल अवधारणाओं को समझने में मदद करेगा जिनसे दरअसल उनकी भावी शिक्षा आकार लेती है। हमने पाया कि यह ज़रूरत अभी तक पूरी नहीं हो रही है। इस सेवा को बच्चों के स्कूल सिलेबस के हिसाब से ढाला गया है। इसमें 500 से ज्यादा टॉपिक हैं जिन्हें रोचक व इंटरैक्टिव फॉर्मैट में पेश किया गया है। बच्चों को सर्वश्रेष्ठ शैक्षणिक अनुभव देने के मकसद के काम में टाटा क्लायेज़ इस क्षेत्र में अपनी विशेषज्ञता के साथ एकदम फिट बैठता है। भारत के कुछ सबसे अच्छे स्कूल इस समय क्लासरूम लर्निंग की पूर्ति के लिए टाटा क्लासयेज़ के मल्टी-मीडिया सोल्यूशंस का इस्तेमाल कर रहे हैं। हमारी योजना इन्हें अब किफायती मूल्य पर अपने सब्सक्राइबरों को उपलब्ध करा देने की है।”

वहीं, टटा क्लासयेज़ के चीफ कॉमर्शियल अधिकारी राजेश खंदागले का कहना है, “हम टाटा स्काई के साथ मिलकर बच्चों को उनके घरों की सुविधा में अपना अभिनव लर्निंग कंटेंट उपलब्ध कराके रोमांचित हैं। टाटा स्काई क्लासरूम बच्चों को विज्ञान व गणित के मूल सिद्धांतों को समझने में मदद करेगा। दिल में किसी भी बच्चे इस सेवा का लाभ ले सकते हैं। यह पार्टनरशिप साल 2025 तक सालाना एक करोड़ छात्रों को शिक्षित करने के हमारे विज़न को आगे बढ़ाती है।”

इस मौके पर टाटा एलेक्सी में मार्केटिंग व रणनीति के सीनियर वीपी, नितिन पई का कहना था, “स्कूली बच्चों के लिए सीखने का प्रभावी अनुभव पैदा करने के लिए इंटरैक्टिव कंटेंट का इस्तेमाल बढ़ता जा रहा है। यह बच्चों को आसानी से समझने और ज्ञान को सोखने में मदद करता है। टाटा एलेक्सी की पुरस्कार विजेता डिजिटल व इंटरैक्टिव कंटेंट बनाने की क्षमता को ब्रॉडकास्ट टेक्नोलॉज़ी की गहरी विशेषज्ञता से मिला जाए तो ऑपरेटर और ब्रॉडकास्टर अपनी मूल्य-वर्धित सेवाओं का पोर्टफोलियो बढ़ा सकते हैं, मोहक व अन्य कंटेंट के माध्यम से आय की नई धाराओं विकसित कर सकते हैं और नए दर्शक पा सकते है।”