लाइव पोस्ट
चीन में शुरू हुआ दुनिया का सबसे ऊंचा पुल, 14.40 करोड़ डॉलर से बना
नोटबंदी को लेकर तृणमूल कांग्रेस का पीएम मोदी पर कटाक्ष- 'उम्मीद है कल बड़ी घोषणा करेंगे'
सीतापुर में यात्रियों से भरी बस नदी में पलटी, बचाव कार्य जारी
झारखंड में कोयला खदान के अंदर फंसे मजदूर, 10 शव निकाले गए
दिल्ली हाई कोर्ट ने शादियों के लिए बैंक खाते से 2.5 लाख रुपए निकालने के खिलाफ याचिका खारिज़ की
संसद के दोनों सदनों में नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी दलों का हंगामा जारी
घोषित काले धन पर लगेगा 50% टैक्स, लोकसभा ने आयकर अधिनियम में संशोधन पास किया

वीडियोकॉन डी2एच ने चौथी तिमाही में घाटा कम किया, जोड़े शुद्ध स्तर पर 5.9 लाख सब्सक्राइबर

मुंबई: वीडियोकॉन समूह की डीटीएच इकाई, वीडियोकॉन डी2एच ने सब्सक्राइबरों की संख्या में अच्छी बढ़त और प्रति यूज़र औसत आय (एआरपीयू) में 5.9% की वृद्धि की बदौलत बीते वित्त वर्ष 2015-16 की चौथी तिमाही में अपना शुद्ध घाटा कम कर लिया है।

31 मार्च 2016 को समाप्त तिमाही में उसका शुद्ध घाटा 21.2 करोड़ रुपए रहा है, जबकि पिछले वित्त वर्ष 2014-15 की चौथी तिमाही में उसका शुद्ध घाटा 75.7 करोड़ रुपए रहा था।

वीडियोकॉन डी2एच ने वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में शुद्ध स्तर पर 5.9 लाख सब्सक्राइबर जोड़े हैं। इसी के साथ इस डीटीएच कंपनी का कुल शुद्ध सब्सक्राइबर आधार 1.186 करोड़ का हो गया है। वहीं, उसके सकल सब्सक्राइबरों में 7.9 लाख की वृद्धि हुई है।

कंपनी का समायोजित परिचालन लाभ (ब्याज, टैक्स, मूल्यह्रास व अमोर्टिजेशन से पूर्व लाभ) वित्त वर्ष 2015-16 की चौथी तिमाही में साल भर पहले की तुलना में 25 प्रतिशत बढ़कर 219 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। इस बार उसका परिचालन लाभ मार्जिन 28.4 प्रतिशत है जो साल भर पहले से 40 आधार अंक या 0.4 प्रतिशत अधिक है।

कंपनी की परिचालन आय इस दौरान 23.4 प्रतिशत बढ़कर 772 करोड़ रुपए हो गई। वहीं, सब्सक्रिप्शन व एक्टिवेशन आय साल भर पहले की समान अवधि से 20.9 प्रतिशत बढ़कर 706 करोड़ रुपए पर पहुंच गई।

चौथी तिमाही में कंपनी की आय का 37.5 प्रतिशत हिस्सा कंटेंट लागत पर चला गया, जबकि पिछले वित्त वर्ष की चौथाई में यह हिस्सा 38.4 प्रतिशत रहा था।

Financial-Summary-Videocon-D2H-Q4

इस बार उसकी एआरपीयू 214 रुपए प्रति माह रही है, जबकि ठीक पिछली तिमाही में यह 211 रुपए रही थी। इस तरह तीन महीने में यह 1.4 प्रतिशत बढ़ी है। साल भर पहले की समान तिमाही में उसकी एआरपीयू 202 रुपए रही थी।

उसकी मासिक चर्न दर इस बार 0.58 प्रतिशत है, जबकि ठीक पिछली तिमाही में यह 0.73 प्रतिशत रही थी।

हार्डवेयर सब्सिडी के रूप में दी गई ग्राहक हासिल करने की लागत वित्त वर्ष 2015-16 की चौथी तिमाही में 1776 रुपये प्रति सब्सक्राइबर रही है।

पूरे वित्त वर्ष का कामकाज

वीडियोकॉन डी2एच का शुद्ध घाटा 31 मार्च 2016 को समाप्त वित्त वर्ष में घटकर 92.2 करोड़ रुपए पर आ गया है। इससे पिछले वित्त वर्ष में यह 272.7 करोड़ रुपए रहा था।

वहीं, उसका समायोजित परिचालन लाभ पिछले वित्त वर्ष 2014-15 के 609.2 करोड़ रुपए से 31.5 प्रतिशत बढ़कर इस बार 801.3 करोड़ रुपए हो गया है।

साथ ही कंपनी का समायोजित परिचालन लाभ मार्जिन 200 आधार अंक या 2 प्रतिशत उठकर अब 28.1 प्रतिशत पर आ गया है।

इस दौरान उसकी परिचालन आय 22.2 प्रतिशत बढ़कर 2856 करोड़ रुपए हो गई। वहीं, सब्सक्रिप्शन व एक्टिवेशन आय 26.4 प्रतिशत बढ़कर 2607 करोड़ रुपए पर पहुंच गई।

वित्त वर्ष 2015-16 में कंटेंट लागत कंपनी की आय का 37.8 प्रतिशत रही है, जबकि साल भर पहले इस मद में 36.2 प्रतिशत आय गई थी।

पूरे वित्त वर्ष में उसकी एआरपीयू 207 रुपए रही है। यह पिछले वित्त वर्ष 2014-15 की औसत एआरपीयू 196 रुपए से 5.6 प्रतिशत ज्यादा है।

वीडियोकॉन डी2एच ने वित्त वर्ष 2015-16 में शुद्ध स्तर पर 16.8 लाख सब्सक्राइबर जोड़े हैं। पिछले वित्त वर्ष 2014-15 में इस डीटीएच कंपनी ने शुद्ध स्तर पर 17.4 लाख सब्सक्राइबर जोड़े थे। 31 मार्च 2016 तक की स्थिति के अनुसार उसका शुद्ध सब्सक्राइबर आधार 1.186 करोड़ का है।

कंपनी ने वित्त वर्ष 2015-16 में सकल स्तर पर 26.5 लाख सब्सक्राइबर जोड़े हैं। वीडियोकॉन डी2एच में पिछले वित्त वर्ष 2014-15 में सकल स्तर पर 26.4 लाख सब्सक्राइबर जोड़े थे।

कंपनी की मासिक चर्न की दर इस बार 0.73 प्रतिशत रही है, जबकि वित्त वर्ष 2014-15 में यह 0.80 प्रतिशत रही थी।

Saurabh-Dhoot2-271x300वित्तीय नतीजों पर टिप्पणी करते हुए वीडियोकॉन डी2एच के कार्यपालक चेयरमैन सौरभ धूत ने कहा, “वित्त वर्ष 2015-16 वीडियोकॉन डी2एच के लिए यादगार साल रहा है क्योंकि नैस्डैक में लिस्टिंग के बाद का यह हमारा पहला साल था और यह सफर शानदार रहा। मुझे खुशी है कि हमने सब्सक्राइबरों में अच्छी वृद्धि हासिल की है, हमारी आय बढ़ी है और वित्त वर्ष के दौरान सर्विस टैक्स में वृद्धि व नई स्वच्छ भारत पहल पर अमल के बावजूद हमारा समायोजित परिचालन लाभ 31.5 प्रतिशत बढ़ा है।”

वीडियोकॉन डी2एच ने 31 मार्च 2016 तक 2315 करोड़ रुपए के सावधि ऋण ले रखे थे, जबकि उसके पास कुल कैश व अल्पकालिक निवेश 721 करोड़ रुपए का था।