लाइव पोस्ट
चीन में शुरू हुआ दुनिया का सबसे ऊंचा पुल, 14.40 करोड़ डॉलर से बना
नोटबंदी को लेकर तृणमूल कांग्रेस का पीएम मोदी पर कटाक्ष- 'उम्मीद है कल बड़ी घोषणा करेंगे'
सीतापुर में यात्रियों से भरी बस नदी में पलटी, बचाव कार्य जारी
झारखंड में कोयला खदान के अंदर फंसे मजदूर, 10 शव निकाले गए
दिल्ली हाई कोर्ट ने शादियों के लिए बैंक खाते से 2.5 लाख रुपए निकालने के खिलाफ याचिका खारिज़ की
संसद के दोनों सदनों में नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी दलों का हंगामा जारी
घोषित काले धन पर लगेगा 50% टैक्स, लोकसभा ने आयकर अधिनियम में संशोधन पास किया

वीडियोकॉन डी2एच का विलय डिश टीवी के साथ, बनेगी विशाल टीवी वितरण कंपनी

मुंबई: वीडियोकॉन समूह की डायरेक्ट-टू-होम (डीटीएच) कंपनी वीडियोकॉन डी2एच का विलय देश की सबसे बड़ी डीटीएच कंपनी डिश टीवी के साथ होने जा रहा है। यह ऐसा बड़ा सौदा है है जो समूचे भारतीय ब्रॉडकास्ट क्षेत्र को प्रभावित कर सकता है।

दोनों ही कंपनियों के निदेशक बोर्ड ने वीडियोकॉन डी2एच के डिश टीवी में विलय की व्यवस्था और उससे जुड़े हुए निश्चित समझौतों का अनुमोदन कर दिया है।

प्रस्तावित विलय के बाद बननेवाली नई कंपनी का नाम डिश टीवी वीडियोकॉन होगा।

dish-tv-videocon-d2h-coverडिश टीवी वीडियोकॉन विलय की स्कीम के अंतर्गत 85,77,91,000 नए शेयर जारी करेगी। वीडियोकॉन डी2एच के शेयरधारकों को अपने हर शेयर पर (स्कीम में तय कुछ समायोजन करते हुए) डिश टीवी वीडियोकॉन के 2.021 नए शेयर आवंटित किए जाएंगे। इस स्कीम पर अमल के बाद डिश टीवी के शेयरधारकों के पास 106,68,61,000 मौजूदा शेयर या नई कंपनी डिश टीवी वीडियोकॉन की 55.4 प्रतिशत इक्विटी हो जाएगी, जबकि वीडियोकॉन डी2एच के पास डिश टीवी वीडियोकॉन के 85,77,91,000 शेयर या 44.6 प्रतिशत इक्विटी रहेगी।

डिश टीवी वीडियोकॉन की कमान उसके चेयरमैन व प्रबंध निदेशक के रूप में जवाहर लाल गोयल के पास होगी। इसमें विलय की जानेवाली दोनों कंपनियों के कर्मचारियों के लिए करिअर को आगे बढ़ाने के सारे अवसर दिए जाएंगे और वरिष्ठ व परिचालन प्रबंधन टीम की ताकत को आपस में मिला दिया जाएगा।

वीडियोकॉन डी2एच के मालिकों को डिश टीवी वीडियोकॉन के बर्ड में दो निदेशकों को नामित करने का अधिकार होगा, जिनमें से एक कंपनी का वाइस चेयरमैन और दूसरे उप-प्रबंध निदेशक होगा।

प्रस्तावित सौदे से माना जा रहा है कि भारत में केबल व सैटेलाइट डिस्ट्रीब्यूशन का एक अग्रणी प्लेटफॉर्म बन सकता है।

अगर 30 सितंबर 2016 तक की स्थिति को आधार बनाएं तो भारत के कुल 17.5 करोड़ टीवी घरों में से मौजूदा मेल के बाद डिश टीवी वीडियोकॉन शुद्ध स्तर पर 2.76 करोड़ सब्सक्राइबरों तक पहुंच रही है। इससे उसकी ताकत और उसके सामने मौजूद विकास की संभावनाओं का भी पता चलता है।

अगर दोनों कंपनियों के आंकड़ों को मौजूदा आधार पर ही जोड़कर देखें कि विलय के बाद बनी कंपनी की आय 31 मार्च 2016 को समाप्त वित्त वर्ष में 5915.8 करोड़ रुपए और परिचालन लाभ (ब्याज, टैक्स, मूल्यह्रास व अमोर्टाइजेशन से पूर्व लाभ) 1826.2 करोड़ रुपए बनता है। यह उसे भारत की अग्रणी मीडिया कंपनी बना देता है।

प्रस्तावित विलय से दोनों कंपनियों की ताकत का मेल होगा और विकास के अवसरों को पकड़ना आसान हो सकता है। इससे डिश टीवी वीडियोकॉन अपने सभी ग्राहकों को गहन आफ्टर सेल्स, डिस्ट्रीब्यूशन व टेक्नोलॉजी क्षमता के जरिए एकदम अलग व बेहतर सेवा देने में समर्थ हो जाएगी और भारत में टीव कंटेंट प्रदाताओं के लिए ज्यादा कारगर पार्टनर बन जाएगी।

Jawahar_Goel-150x150डिश टीवी के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक जवाहर गोयल ने कहा, “भारत में जब केबल व सैटेलाइट उद्योग तेज़ी से डिजिटलीकरण की राह पर चल रहा है, वैसे वक्त में मुझे संयोजन की घोषणा करते हुए बहुत खुशी हो रही है। यह सौदा भारत में केबल व सैटेलाइट उद्योग की दो ताकतवर ब्रांडों को साथ लाता है। यह हमें अनेक खिलाड़ियों के अति प्रतिस्पर्धी माहौल में विकास के अवसरों के दोहन में मदद करेगा। यह मिलाप सभी हितधारकों – उपभोक्ताओं, सरकार, कर्मचारियों व शेयरधारकों के लिए मूल्य में इजाफा करेगा।

डिश टीवी एक अग्रणी और लीक से हटकर चलनेवाली कंपनी है जिसने तमाम नई प्रक्रियाएं स्थापित करने की तकलीफ व ज़िम्मेदारी उठाई है। इसमें इलेक्ट्रॉनिक व डिजिटल भुगतान प्रणाली शामिल है जो प्रारंभिक वर्षों में बिजनेस की जरूरत थी और गतिशील व बढ़ते उद्योग के लिए आदर्श बन गई है। अब हम अपनी बहुत ही रोमांचक व शानदार यात्रा में अगली छलांग लगा रहे हैं।”

Saurabh-Dhoot2-271x300वहीं वीडियोकॉन डी2एच के कार्यपालक चेयरमैन सौरभ धूत का कहना था, “सात साल पहले वीडियोकॉन डी2एच के व्यावसायिक लॉन्च के बाद से हमने ठोस बुनियाद का बेहद सफल और ऊंची वृद्धि वाला डीटीएच बिजनेस खड़ा कर दिया है। हमने कंपनी को नए स्तर तक ले जाने और उसे अग्रणी, अभिनव व बेहद लाभप्रद भारतीय मीडिया प्लेटफॉर्म बनाने के लिए नैस्डैक में लिस्ट कराया। आज बम इस रणनीतिक मेल को लेकर बहुत उत्साहित हैं जिसमें हमने निर्णायक व साबित नेतृत्व के साथ ठोस प्लेटफॉर्म बनाया है। यह सभी हितधारकों, हमारे ग्राहकों, कर्मचारियों व शेयरधारकों के लिए मूल्य निर्मित करने में डिश टीवी वीडियोकॉन को आगे ले जाएगा।”

प्रस्तावित सौदे के पूरा होने पर डिश टीवी के वर्तमान प्रवर्तक डिश टीवी वीडियोकॉन के भी प्रवर्तक बने रहेंगे। डिश टीवी के मुख्य प्रवर्तक दरअसल इस समय वीडियोकॉन डी2एच के मालिकों के साथ विलय के बाद डिश टीवी वीडियोकॉन में भी उनके शेयर खरीदने की बातचीत चला रहें है। इसके ब्यौरे को भी जल्दी ही अंतिम रूप दे दिए जाने की उम्मीद है।

प्रस्तावित विलय के पूरा होने के बाद डिश टीवी वीडियोकॉन के शेयर नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) में लिस्टेड रहेंगे, जबकि उसके जीडीआर (ग्लोबल डिपॉजिटरी रिसीट्स) लक्ज़ेमबर्ग स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध रहेंगे। विलय की स्कीम के अंतर्गत वीडियोकॉन डी2एच के एडीआर (अमेरिकन डिपॉजिटरी रिसीट्स) के धारकों को जीडीआर के रूप में नई कंपनी के शेयर मिल जाएंगे, बशर्ते वे सीधे कंपनी के शेयर लेने का विकल्प नहीं चुनते हैं।

प्रस्तावित सौदा विभिन्न नियामक मंज़ूरियां मिलने पर ही पूरा होगा। इसमें पूंजी बाज़ार नियामक संस्था सेबी, स्टॉक एक्सचेंज, दोनों कंपनियों के शेयरधारक व ऋणदाता, भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग, बॉम्बे हाई कोर्ट और सूचना व प्रसारण मंत्रालय की मंज़ूरी शामिल है। इस सौदे को साल 2017 की दूसरी छमाही में पूरा कर लेने की उम्मीद है।

इस सौदे में मॉर्गन स्टैनली डिश टीवी के अनन्य वित्तीय सलाहकार और यस सिक्यूरिटीज (इंडिया) लिमिटेड वीडियोकॉन डी2एच के अग्रणी वित्तीय सलाहकार की भूमिका में है। सौदे में शामिल अन्य सलाहकारों में अर्ऩ्स्ट एंड यंग, एसआर बाटलीबॉय एंड कंपनी एलएलपी व लूथरा एंड लूथरा ऑफिसेज़ डिश टीवी के लिए और केपीएमजी, शार्दुल अमरचंद मंगलदास एंड कंपनी व एडलेवाइज कैपिटल वीडियोकॉन के लिए काम कर रहे हैं। शियरमान एंड स्टर्लिंग डिश टीवी और वीडियोकॉन डी2एच दोनों के ही लिए अंतरराष्ट्रीय कानूनी सलाहकार के रूप में काम कर रहा है। वो उन्हें अमेरिका के संघीय सिक्यूरिटीज़ कानून और प्रस्तावित सौदे से संबंधित पहलुओं के संबंध मदद करेगा।