लाइव पोस्ट

वीडियोकॉन डी2एच चालू वित्त वर्ष में कमा लेगी शुद्ध लाभ, 25 लाख सब्सक्राइबर जोड़ने का लक्ष्य

मुंबई: वीडियोकॉन समूह की डीटीएच इकाई, वीडियोकॉन डी2एच का अपना आकलन है कि वो चालू वित्त वर्ष 2016-17 में पूरे साल के स्तर पर शुद्ध लाभ में आ जाएगी।

नैस्डेक में सूचीबद्ध इस कंपनी ने 30 जून 2016 को समाप्त तिमाही में अपना पहला शुद्ध लाभ हासिल किया है। उसका ताज़ा आकलन है कि अगर सब्सक्राइबरों के जुड़ने का सिलसिला मौजूदा रफ्तार से बढ़ता रहा तो वो पूरे वित्त वर्ष 2016-17 में फ्री कैश फ्लो के मामले में ब्रेक-इवेन हासिल कर लेगी।

वीडियोकॉन डी2एच को उम्मीद है कि पूरे वित्त वर्ष में सकल स्तर वो अपने सब्सक्राइबर आधार में कम से कम 25 लाख का इजाफा कर लेगी।

Saurabh-Dhoot2-271x300वीडियोकॉन डी2एच के कार्यपालक चेयरमैन अध्यक्ष सौरभ धूत का कहना, “हम वित्त वर्ष 2016-17 के लिए निर्धारित मार्गदर्शन को पूरा करने की राह पर हैं। हम पूरे वित्त वर्ष में टैक्स-बाद लाभ (शुद्ध लाभ) कमा लेंगे।”

वीडियोकॉन डी2एच ने जुलाई से सितंबर 2016 की तिमाही में  260 करोड़ रुपए के परिचालन लाभ (ब्याज, टैक्स, मूल्यह्रास व अमोर्टिजेशन से पूर्व लाभ) हासिल करने का लक्ष्य रखा है जो साल भर पहले की समान अवधि की तुलना में 36 प्रतिशत ज्यादा होगा। इससे पहले 30 जून 2016 को समाप्त पहली तिमाही में कंपनी का समायोजित परिचालन लाभ 252 करोड़ रुपए रहा है जो साल भर पहले की तुलना में 32.4 प्रतिशत अधिक है। उस दौरान उसका समायोजित परिचालन लाभ मार्जिन 30.8 प्रतिशत रहा है जो साल-दर-साल आधार पर 210 बेसिस प्वॉइंट या 2.1 प्रतिशत अधिक है।

डीटीएच कंपनी को उम्मीद है कि वो चालू वित्त वर्ष 2016-17 की दूसरी तिमाही में शुद्ध स्तर पर 2.25 लाख सब्सक्राइबर जोड़ लेगी। इसने पहली तिमाही में सकल स्तर पर 6 लाख सब्सक्राइबर जोड़े है, जबकि शुद्ध स्तर पर सब्सक्राइबरों की संख्या 4.3 लाख बढ़ी है। 30 जून 2016 तक उसका शुद्ध सब्सक्राइबर आधार 1.229 करोड़ का हो गया है।

धूत का कहना है, “दूसरी तिमाही हमारे बिजनेस में सीज़न के रूप में सबसे कमज़ोर रहा करती है और आंकड़े कमोबेश सपाट रहते हैं। वहीं, साल की दूसरी छमाही सापेक्ष और सीज़नल स्तर पर मजबूत रहा करती है।”

वित्त वर्ष की पहली तिमाही में वीडियोकॉन डी2एच की कुल आय 23.5 प्रतिशत बढ़कर 819 करोड़ रुपए हो गई। इस दौरान उसकी सब्सक्रिप्शन व एक्टीवेशन आय 23.9 प्रतिशत बढ़कर 752 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। साथ ही उसकी कैरेज़ आय 47 प्रतिशत बढ़कर 27.1 करोड़ रुपए और विज्ञापन आय 12.1 प्रतिशत बढ़कर 9.1 करोड़ रुपए हो गई।

videocon-d2h-logo-coverधूत ने मीडिया विश्लेषकों को बताया, “सिनेमा, म्यूज़िक, बच्चों से संबंधित, शैक्षिक व धार्मिक कंटेंट जैसे तमाम जॉनरों में हमारी प्रॉपराइटरी सेवाओं को अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है। हमारे पास अब लगभग 15 लाख कस्टमर हो गए हैं जिन्होंने अपने मासिक सब्सक्रिप्शन पैक के ऊपर से इनमें से एक या ज्यादा सेवाएं सब्सक्राइब कर रखी हैं। स्पष्ट है कि हमारा मंच भारत में लाखों घरों तक पहुंच रहा है और इन सेवाओं से अच्छी विज्ञापन आय दिला रहा है। वास्तव में, बीएमडब्ल्यू, हुंडई, जेट एयरवेज और सुजुकी जैसे बहुत से ब्रांड हमारे मंच पर विज्ञापन देने लगे हैं। शुरू कर दिया है। ये सेवाएं अब कंपनी की आय और परिचालन लाभ में सार्थक योगदान करने लगी हैं।”

वित्त वर्ष की पहली तिमाही में कंपनी का पूंजी खर्च 163 करोड़ रुपए रहा है। यह मुख्य रूप सले सेट-टॉप बॉक्सों (एसटीबी) की खरीद से संबंधित है। तिमाही में पूंजी खर्च को घटा देने पर उसका परिचालन लाभ 88.7 करोड़ रुपए निकलता है। इस दौरान उसकी हार्डवेयर सब्सिडी 1872 रुपए प्रति सब्सक्राइबर दर्ज की गई है।

वीडियोकॉन डी2एच ने अपनी व्यावसायिक सेवाएं 2010 के शुरू में लॉन्च की थीं और दो साल के भीतर ही उसने 50 लाख का सब्सक्राइबर आधार बना लिया। लॉन्च के चार साल के भीतर कंपनी ने एक करोड़ सब्सक्राइबरों की मंज़िल हासिल कर ली। धूत कहते हैं, “लाभप्रदता तक की पहुंचने की हमारी यात्रा उद्योग में सबसे तेज़ रफ्तार वालों में से एक रही है।”

यह भी पढ़े: