लाइव पोस्ट

फिक्की फ्रेम्स


मोबाइल पर सही बिज़नेस मॉडल पकड़ने में आगे रहेगा भारत: अजित मोहन, स्टार

अजीत मोहन ने कहा कि खपत व मुद्रीकरण के मामले में मॉडल दुनिया में सबसे पहले भारत में आएंगे। वहीं से ज्यादा नवाचार आने हैं। उन्होंने बताया कि स्टार के हॉटस्टार पर अधिकांश खपत मोबाइल के माध्यम से हो रही है।

मीडिया व मनोरंजन उद्योग ने माफिक टैक्स व्यवस्था की मांग की

हालांकि जीएसटी आ जाने से बहुत सारे टैक्सों की जगह टैक्स की व्यवस्था आसान हो जाने की उम्मीद है। फिर भी उद्योग के लिए चिंता के कई सारे मसले बचे रह जाएंगे। फिक्की फ्रेम्स में मनोरंजन व मीडिया क्षेत्र की टैक्स संरचना से जुड़े अहम मुद्दों पर चर्चा की गई।

डिजिटल युग में उपभोक्ता ही करेंगे ब्रांड कम्युनिकेशन के स्वरूप का फैसला

डिजिटल अभियानों का अगला बड़ा चरण स्थानीय भाषाओं में होगा। सीवीएल श्रीनिवास ने कहा कि दक्षिण में डिजिटल सितारे उभरे हैं जो अपने साथ जुड़ने के लिए ब्रांडों को खींचेंगे। उनका कहना था कि डिजिटल को मार्केटिंग के अन्य माध्यमों के तालमेल में काम करना चाहिए।

इस हमेशा कनेक्टेड ज़माने में प्राइम न्यूज़ टाइम का समय बीत गया: राघव बहल

राघव बहल ने बदलते मीडिया परिदृश्य और कैसे हाथ के डिजिटल डिवाइस पूरे मीडिया पारिस्थितिकी तंत्र को बदलने जा रहे हैं, इस पर अपने विचार साझा किए हैं। उनका कहना था कि आज के दौर में न्यूज़ का प्राइम टाइम बेमतलब हो गया है।

बच्चों का कंटेंट: गेमिंग में है एल एंड एम बिज़नेस को पीछे छोड़ने की क्षमता

किड्स नेटवर्क लोकप्रिय फ्रैंचाइज़ी के छोटे अंश बनाकर और यूट्यूब के ज़रिए मुद्रीकरण करते हैं। छोटी मात्रा में ज़्यादा बिकने वाली मर्कैन्डाइज़िंग और गेमिंग एप्प कंटेंट भी आय के बड़े स्रोत हो सकते हैं।

आखिर कोई तो समझे प्रसार भारती के सीईओ होने की पीर!

प्रसार भारती का सीईओ होना आसान नहीं है। निजी सैटेलाइट टेलिविज़न से प्रतिस्पर्धा के बीच, हमेशा फंडिंग और तंगी की मुश्किलें बनी रहती हैं। इसके अलावा सिर पर सरकार का दखल मंडराता रहता है।

डॉट की विशेष सचिव रीता तेवतिया ने मिलेजुले नियामक की वकालत की

दूरसंचार और ब्रॉडकास्टिंग क्षेत्र का अभिसरण या मिलाप हर बीतते दिन के साथ एक वास्तविकता बनता जा रहा है। ऐसे में सरकार को इस मिलाप के अनुरूप कायदों को अपनाने पर गौर करने की जरूरत है। यह कहना है दूरसंचार विभाग की विशेष सचिव रीता तेवतिया का।

भारत बनाता गया खेलों में बड़ी लीग के लिए ऊर्वर ज़मीन, पर चुनौती है सामने

भारत में आईपीएल की सफलता के बाद, कबड्डी, हॉकी, फुटबॉल, बैडमिंटन और टेनिस जैसे खेल लीग फॉर्मैट में सामने आए हैं। क्या हम खेल में बड़ी लीग शुरू करने के आखिरी मुहाने पर पहुंच गए हैं? इस मुद्दे पर भी फिक्की फ्रेम्स में चर्चा हुई।

डिजिटल मीडिया ने कंटेंट निर्माताओं के लिए तमाम बाधाएं मिटा दी हैं

डिजिटल मीडिया प्लेटफॉर्मों के उभार ने कंटेंट के वितरण के तौर-तरीकों को बडा लोकतांत्रिक बना दिया है। लेकिन अपनी तमाम सीमाओं के बावजूद पारंपरिक वितरण प्लेटफॉर्म ही कंटेंट के मालिकों के लिए कमाई का मुख्य ज़रिया बने हुए हैं।

औरत होकर अच्छा काम किया तो नफरत पाने के लिए तैयार रहें: बरखा दत्त

उद्योग में कई महिला पत्रकार हैं लेकिन न्यूज़ के क्षेत्र में बहुत कम महिला सीईओ और संपादक है। बरखा दत्त ने कहा, “मैं 10 महिला सीईओ या संपादक का नाम भी नहीं गिना सकती।” उन्होंने यह भी कहा कि न्यूज़ क्षेत्र के ‘बिम्बोफिकेशन’ का खतरा है।