लाइव पोस्ट
चीन में शुरू हुआ दुनिया का सबसे ऊंचा पुल, 14.40 करोड़ डॉलर से बना
नोटबंदी को लेकर तृणमूल कांग्रेस का पीएम मोदी पर कटाक्ष- 'उम्मीद है कल बड़ी घोषणा करेंगे'
सीतापुर में यात्रियों से भरी बस नदी में पलटी, बचाव कार्य जारी
झारखंड में कोयला खदान के अंदर फंसे मजदूर, 10 शव निकाले गए
दिल्ली हाई कोर्ट ने शादियों के लिए बैंक खाते से 2.5 लाख रुपए निकालने के खिलाफ याचिका खारिज़ की
संसद के दोनों सदनों में नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी दलों का हंगामा जारी
घोषित काले धन पर लगेगा 50% टैक्स, लोकसभा ने आयकर अधिनियम में संशोधन पास किया

आमने-सामने

“हम कंटेंट की ट्रेडिंग का बिजनेस करते हैं, ट्रांसपोंडरों का नहीं”

टाटा स्काई के सीईओ हरित नागपाल मानते हैं कि कंटेंट की लागत घटाने का यह मतलब कतई नहीं है कि डीटीएच कैरेज़ फीस लेने लग जाएं। डीटीएच उद्योग में विलय व अधिग्रहण के आसार अभी दूर-दूर तक नहीं नज़र आते। उन्होंने टेलिविज़न पोस्ट को दिए गए एक इंटरव्यू में 20 प्रतिशत की सीमा, लाइसेंस फीस और टेक्निकल इंटर-ऑपरेबिलिटी जैसे मसलों पर भी खुलकर बात की।

‘क्रॉस-मीडिया स्वामित्व से मीडिया व मनोरंजन क्षेत्र का निवेश बंध जाएगा’

टेलिविज़न पोस्ट को दिए गए इंटरव्यू के दूसरे हिस्से में स्टार इंडिया के सीओओ संजय गुप्ता ने विज्ञापन समय की सीमा, कंटेंट एग्रीगेटर व क्रॉस-मीडिया स्वामित्व जैसे तल्ख मुद्दों पर अपनी कंपनी की राय रखी। गुप्ता ने विज्ञापन समय की सीमा का तो स्वागत किया। लेकिन उनके मुताबिक कंटेंट एग्रीगेटरों व क्रॉस-मीडिया स्वामित्व के नियम कंटेंट बिजनेस को चोट पहुंचाएंगे। उनका मानना है कि अगर प्रत्यक्ष विदेशी निवेश को आने की खुली छूट मिल गई तो मीडिया अगले सात से दस साल में 15 अरब डॉलर से बढ़कर 100 अरब डॉलर तक का उद्योग बन सकता है।

‘स्पोर्ट्स के अलावा हमारे सभी चैनल फायदे में चल रहे हैं’

स्टार इंडिया के सीओओ संजय गुप्ता का मानना है कि उनके धंधे में विकास पिरामिड के ऊपरी और निचले, दोनों ही भाग में होना है और उनका लक्ष्य दोनों का ही बड़ा हिस्सा हासिल करना है। उन्होंने टेलिविज़न पोस्ट के गौरव लघाते और जावेद फारुखी के साथ खुलकर हुई बातचीत में कंपनी की ताज़ा रणनीति और भावी योजनाओं पर रौशनी डाली।

‘शक्तियों में फिर से संतुलन बनाना जरूरी है’

ट्राई के चेयरमैन राहुल खुल्लर ने टेलिविज़न पोस्ट को दिए गए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में बताया कि देश के ब्रॉडकास्टर क्षेत्र को ज्यादा नियम-कायदों की जरूरत है। वे जल्दी ही क्रॉस-मीडिया स्वामित्व, डीटीएच लाइसेंसिंग और एफएम रेडियो की माइग्रेशन फीस पर पहल करनेवाले हैं। उनका कहना है कि यह काम तीन-महीनों में हो जाना चाहिए।

हम डीटीएच ऑपरेटरों को कैरेज फीस नहीं देंगे: अनुज गांधी

इंडियाकास्ट यूटीवी के सीईओ अनुज गांधी ने लड़ाकू तेवर दिखा दिए हैं। डिश टीवी ने जब अपने सब्सक्राइबरों में से केवल मांग करनेवालों को ही डिज़्नी और टीवी-18 ग्रुप के चैनल उपलब्ध कराने का फैसला किया तो गांधी ने बड़े बेबाक अंदाज़ में कह दिया, “हम डायरेक्ट-टू-होम (डीटीएच) ऑपरेटरों को कैरेज फीस नहीं देंगे। हम किसी भी तरह के दबाव में नहीं आएंगे।”