लाइव पोस्ट

इंद्राणी मुखर्जी ने शीना से वित्तीय झगड़े की बात मानी, पर हत्या से इनकार

मुंबई: मुंबई पुलिस ने दावा किया है कि पूर्व टीवी अधिकारी और स्टार इंडिया के पूर्व सीईओ पीटर मुखर्जी की पत्नी इंद्राणी मुखर्जी ने अपराध स्वीकार किए बिना, अपनी बेटी शीना बोरा से नफरत की बात स्वीकार कर ली है। शीना की हत्या का आरोप उस पर लगाया गया है।

पूछताछ के दौरान इंद्राणी ने यह भी माना कि शीना के साथ उसका पैसे को लेकर विवाद चल रहा था। संयोग से, वित्तीय विवाद शीना की हत्या के पीछे दो कारणों में से एक के रूप में उभरा है।

Indrani-peter-mukherjee01-150x150इंद्राणी ने कथित तौर पर शीना की हत्या के लिए अपने दूसरे पति संजीव खन्ना को दोषी ठहराया है। कथित अपराध में मिलीभगत की बात स्वीकार करते हुए खन्ना ने बताया है कि शीना को मारने में मदद करने के लिए उसे काम पर रखा गया था और इंद्राणी ने इसके लिए मुआवजा भी दिया था।

पुलिस द्वारा करवाया गए आमने-सामने के टकराव में, इंद्राणी ने कथित तौर पर अपना आपा खो दिया, जब उसके बेटे मिखाइल बोरा ने दावा किया कि वह उसका ‘अगला निशाना’ था। पुलिस के अनुसार इंद्राणी ने मिखाइल बोरा के आरोपों से इनकार किया और कहा कि वह उससे धन उगाही की कोशिश कर रहा था।

मेल टुडे की खबर के अनुसार उसकी बेटी शीना बोरा अमेरिका गई थी, इंद्राणी का दावा पूरी तरह से गलत साबित हो गया है। रिपोर्ट के अनुसार, शीना का पासपोर्ट राहुल मुखर्जी के पास था। राहुल, पीटर की पहली शादी से हुआ बेटा है।

शीना का पासपोर्ट जब राहुल के पास था तो शीना अमेरिका कैसे जा सकती है, यह पूछे जाने पर इंद्राणी ने कहा कि उसकी बेटी ने एक और पासपोर्ट बनवाया था। इस दावे को पुलिस ने यह कहकर तुरंत खारिज कर दिया कि ऐसा कर पाना एक व्यक्ति के लिए संभव नहीं है।

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि संजीव ने जांचकर्ताओं को बताया कि वह 24 अप्रैल को मुंबई आया था। लेकिन तब तक इंद्राणी ने शीना को मार डाला था। संजीव ने यह भी दावा किया है कि उसने मिखाइल की हत्या करने से इंद्राणी को रोका था।

माना जाता है कि संजीव ने शीना के पार्थिव शरीर को निपटाने की बात स्वीकार की है। संजीव ने यह भी कहा कि वह इसलिए अपराध में शामिल हो गया क्योंकि इंद्राणी ने कहा था कि उनकी बेटी विधि का जीवन बर्बाद हो जाएगा क्योंकि अगर शीना, राहुल से शादी कर लेती हैं तो वे दोनों पीटर की संपत्ति के बड़े दावेदार हो जाएंगे।

संजीव के बयान के विपरीत, इंद्राणी के ड्राइवर श्याम राय ने पुलिस को बताया कि जब हत्या हुई तो वह कार में था और उसने लाश को निपटाने में मदद की थी।

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, इंद्राणी के बेटे और शीना के भाई मिखाइल बोरा से भी शनिवार को बांद्रा के एक होटल में पूछताछ की गई। पुलिस मिखाइल के इस दावे की जांच कर रही है कि उसे कथित तौर पर 24 अप्रैल 2012 को शीना से मिलने से सिर्फ कुछ घंटों पहले इंद्राणी और संजीव ने एक ड्रिंक में नशा पिला दिया था। 24 अप्रैल 2012 को शीना को मारकर उसका शरीर रायगढ़ में फेंक दिया गया था।

पुलिस का दावा है कि इंद्राणी ने अपने बेटे को मानसिक रूप से अस्थिर घोषित करने के लिए एक जाली प्रमाण पत्र बनाने के लिए मुंबई के एक मनोचिकित्सक को काम पर रखा था।

अगर मिखाइल अपनी बहन का पता लगाने का प्रयास करता तो इंद्राणी ने जाली प्रमाण पत्र से निराधार करने की योजना बनाई थी। उसने मिखाइल से कहा था कि शीना अमेरिका में है। सूत्रों ने एनडीटीवी को बताया कि मनोचिकित्सक को इस मामले में सरकारी गवाह बनाए जाने की संभावना है।

यह नोट करना प्रासंगिक होगा कि जेजे अस्पताल को 2012 में उसी साल रायगढ़ पुलिस से कुछ हड्डियां मिली थी, जब शीना की हत्या हुई थी। शुक्रवार को जेजे अस्पताल ने खार पुलिस को ये हड्डियां सौंप दीं।
फोरेंसिक साइंस लैबोरेटरी को इंद्राणी और मिखाइल बोरा के खून व बालों के नमूने भेजे गए हैं। वो जल्द ही अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी।

इस बीच, पीटर मुखर्जी ने हत्या के मामले के सिलसिले में शुक्रवार को खार पुलिस को एक लिखित बयान प्रस्तुत किया है। उनके बयान को स्वीकार करते हुए पुलिस ने बताया कि उन्हें फिर से बुलाया जा सकता है।

पीटर ने कहा है कि पूरी घटना के बारे में उन्हें कुछ भी नहीं पता था। यह मामला सामने आने के तत्काल बाद पीटर ने मीडिया को बताया कि शीना इंद्राणी की बेटी है, ऐसा राहुल ने उन्हें बताया था लेकिन उन्होंने अपने बेटे पर विश्वास नहीं किया। अगले दिन पीटर ने एक और बयान में कहा कि शीना ने उन्हें बताया था कि वह इंद्राणी की बेटी है। हालांकि, उन्होंने अपनी पत्नी की बात मानी जो कहती रही कि शीना, इंद्राणी की बहन थी।

एक अन्य जगह उन्होंने कहा कि वह इंद्राणी की गिरफ्तारी के बाद अपराध के इस स्तर से सदमे में है। बाद में, उन्होंने कहा कि वे 10 में से इंद्राणी की बात को 9.5 मानेंगे और “गलत साबित नहीं होने कर 10 में से 10” तक मानेंगे।

इस बीच, रविवार को पुलिस संजीव और ड्राइवर राय को रायगढ़ उस जगह ले गई जहां शनिवार को शीना की कथित रूप से हत्या की गई थी। पुलिस ने वह कार भी बरामद कर ली है जिसमें शीना को मारा गया था।

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार शीना बोरा की हत्या के मामले में पुलिस को रविवार को पता चला कि इंद्राणी ने अगस्त 2014 में मिखाइल को मारने के लिए मुंबई के एक कोन्ट्रैक्ट किलर को काम पर रखा था। मिखाइल को मारने का यह उसका चौथा प्रयास था। इस कोन्ट्रैक्ट किलर को हिरासत में लिया गया है और उससे पूछताछ की जाएगी।