लाइव पोस्ट
चीन में शुरू हुआ दुनिया का सबसे ऊंचा पुल, 14.40 करोड़ डॉलर से बना
नोटबंदी को लेकर तृणमूल कांग्रेस का पीएम मोदी पर कटाक्ष- 'उम्मीद है कल बड़ी घोषणा करेंगे'
सीतापुर में यात्रियों से भरी बस नदी में पलटी, बचाव कार्य जारी
झारखंड में कोयला खदान के अंदर फंसे मजदूर, 10 शव निकाले गए
दिल्ली हाई कोर्ट ने शादियों के लिए बैंक खाते से 2.5 लाख रुपए निकालने के खिलाफ याचिका खारिज़ की
संसद के दोनों सदनों में नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी दलों का हंगामा जारी
घोषित काले धन पर लगेगा 50% टैक्स, लोकसभा ने आयकर अधिनियम में संशोधन पास किया

सूचना और प्रसारण सचिव ने यूरोपीय फिल्म बाजार में भारतीय पेवेलियन का उद्घाटन किया

64वें बर्लि‍न अंतर्राष्‍ट्रीय फि‍ल्‍म समारोह में यूरोपीय फि‍ल्‍म बाजार 2014 के माध्‍यम से भारत ने अपनी उपस्‍थि‍ति‍ दर्ज की है। सूचना और प्रसारण मंत्रालय के सचि‍व श्री वि‍मल जुल्‍का ने फि‍ल्‍म अभि‍नेत्री हुमा कुरेशी और बर्लि‍न में अभि‍नय अम्‍बेसडर और अजि‍त गुप्‍ते के साथ यूरोपीय फि‍ल्‍म बाजार (ईएफएम) के मार्टि‍न ग्रोपीयस बाउ में भारतीय पेवेलि‍यन का उद्घाटन कि‍या। यूरोपीय फि‍ल्‍म बाजार फि‍ल्‍म वि‍तरण अधि‍कारों और दृश्‍य-श्रव्‍य सामग्री के क्षेत्र में अंतर्राष्‍ट्रीय व्‍यापार के लि‍ए एक सबसे अधि‍क महत्‍वपूर्ण मंच है।

इस अवसर पर सूचना और प्रसारण मंत्रालय द्वारा एक भारतीय फि‍ल्‍म मार्ग- नि‍र्देश जारी कि‍या गया जि‍समें फि‍ल्‍म नीति‍यों, वि‍क्रय के लि‍ए फि‍ल्‍मों और यूरोपीय फि‍ल्‍म बाजार में वि‍तरण पर आधारि‍त जानकारी दी गई है। यह मार्ग-नि‍र्देश वैश्‍वि‍क फि‍ल्‍म समुदाय के इस्‍तेमाल के लि‍ए भारतीय सि‍नेमा पर आधारि‍त एक लेखा-जोखा है।

64वें बर्लि‍न अंतर्राष्‍ट्रीय फि‍ल्‍म समारोह में 10 भारतीय फि‍ल्‍में दि‍खाई जाएंगी। बर्लि‍न में अधि‍कारि‍क तौर पर दि‍खाई जाने वाली फि‍ल्‍मों में इम्‍ति‍याज अली की ‘हाईवे‘ (पनोरमा), जयन चैरि‍यन की पपि‍लि‍यो बुद्ध (पनोरमा), पुष्‍पेंद्र सिंह की ‘लाजवंती‘ (फॉरम), जयसि‍का सदाना और सामर्थ दीक्षि‍त की प्रभात फेरी (फॉरम), अवि‍नाश अरूण की ‘कि‍ल्‍ला‘ (जेनेरेशन), गौरव सक्‍सेना की ‘रंगरेज‘ (नेटि‍व) और अन्‍य फि‍ल्‍मों के अलावा माउंट सोंग और ब्‍लड अर्थ शामि‍ल हैं।

सूचना और प्रसारण मंत्रालय और भारतीय उद्योग परि‍संघ की ओर से संयुक्‍त रूप से 6 फरवरी से 14 फरवरी 2014 तक भारतीय पेवेलि‍यन का आयोजन कि‍या जा रहा है। इससे वैश्‍वि‍क बाजार में भारतीय सि‍नेमा की लोकप्रि‍यता को और अधि‍क बढ़ाने और व्‍यापार के नए अवसरों को पाने के लि‍ए एक मंच उपलब्‍ध होगा।