लाइव पोस्ट

नए रीडरशिप सर्वे के आंकड़ों को 31 मार्च तक ठंडे बस्ते में डाला गया

प्रिट मीडिया कंपनियों के भारी विरोध को देखते हुए आरएससीआई ने नए इंडियन रीडरशिप सर्वे (आईआरएस) के आंकड़ों को 31 मार्च तक मुअत्तल कर दिया है।

एमआरयूसी ने आईआरएस को सही माना, आरएससीआई पर डाला फैसले का जिम्मा

आपात बैठक के बाद एमआरयूसी ने कहा कि सर्वे के संचालन का जिम्मा रीडरशिप स्टडीज़ काउंसिल ऑफ इंडिया (आरएससीआई) का है और वह अगले कदम का एकतरफा फैसला नहीं कर सकती, खासकर तब, जब स्थिति इतनी कलहपूर्ण बन चुकी है। आरएससीआई ने 19 फरवरी को बैठक बुलाई है।