लाइव पोस्ट

आगरा की डिजिटल राह पर हर तरफ खड्ढे, भरें भी तो कैसे!

आगरा देश में डैस के सबसे वाहियात बाज़ारों में से एक है। वित्त वर्ष 2013-14 में सी टीवी की आय का 82% हिस्सा रिसीवेबल्स में था। शहर में कार्यरत सभी एमएसओ के लिए एलसीओ से समय पर रकम जुटाना बहुत दुरूह है। हैथवे ने वहां डैस को अनिवार्य बनाने के बाद जून 2013 में कदम रखा।