लाइव पोस्ट
Tags : %E0%A4%A6%E0%A4%BF%E0%A4%B2%E0%A5%8D%E0%A4%B2%E0%A5%80-%E0%A4%B9%E0%A4%BE%E0%A4%88-%E0%A4%95%E0%A5%8B%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%9F

दिल्ली हाई कोर्ट के आदेश पर एसटीवी व महुआ के लाइसेंस बहाल किए गए

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने महुआ मीडिया और एसटीवी एंटरप्राइजेज के निरस्त किए गए लाइसेंस बहाल कर दिए हैं। दिल्ली हाई कोर्ट से उसे आदेश दिया था कि अगला आदेश आने तक इनके लाइसेंस बहाल कर दिए जाएं।

दिल्ली हाई कोर्ट ने डैस के तीसरे चरण की दो याचिकाएं 22 नवंबर तक टालीं

ये मामले डैस के तीसरे चरण के कार्यान्वयन से संबंधित हैं। याचिकाकर्ताओं ने डैस के कुछ नियमों की संवैधानिक वैधता को भी चुनौती दे रखी है।

दिल्ली हाई कोर्ट ने डैस के तीसरे चरण का समय बढ़ाने के चार और मामले बेमानी करार दिए

दिल्ली हाई कोर्ट ने डैस के तीसरे चरण का समय बढ़ाने से संबंधित चार और मामलों को निरर्थक बताते हुए खारिज कर दिया है। जस्टिस संजीव सचदेवा की बेंच ने अब तक 12 मामलों का निपटारा कर दिया है। इसका मतलब है कि समय सीमा विस्तार से संबंधित सभी मामले अब निपट चुके हैं।

ब्रॉडकास्टर, एमएसओ डैस के तीसरे चरण में एनालॉग सिग्नल को रोकने पर एकजुट

आईबीएफ और ऑल इंडिया डिजिटल केबल फेडरेशन यह सुनिश्चित करने के लिए सक्रिय हो गए हैं कि एनालॉग सिग्नल कोर्ट द्वारा निर्धारित अवधि के अनुसार बंद कर दिए जाएं। दोनों ने दिल्ली हाई कोर्ट के ताजा आदेश का स्वागत किया है।

तीसरे चरण का समय बढ़ाने के आठ मामले खारिज, तीन हफ्ते में डैस पर अमल का निर्देश

दिल्ली हाई कोर्ट की एकल पीठ ने डैस के तीसरे चरण को लागू करने का समय बढ़ाने की मांग करते आठ मामलों को खारिज कर दिया है। पीठ ने तीन हफ्ते के भीतर याचिकाकर्ताओं को डैस पर अमल का निर्देश दिया है। वहीं, डैस अधिसूचना को चुनौती देने वाले अन्य मामलों की सुनवाई 23 नवंबर को होगी।

दिल्ली हाई कोर्ट डैस के तीसरे चरण के मामलों पर 3 नवंबर को करेगा गौर

दिल्ली हाई कोर्ट ने डैस के तीसरे चरण की अधिसूचना व समय सीमा को चुनौती देनेवाले दो मामलों को चीफ जस्टिस रोहिणी जी. और जस्टिस संगीता ढींगरा सहगल की खंडपीठ को ट्रांसफर कर दिया है। डैस के तीसरे चरण की समय सीमा से संबंधित बाकी मामले, जिनमें अधिसूचना को चुनौती नहीं दी गई है, उन पर जस्टिस संजीव सचदेवा 3 नवंबर को सुनवाई करेंगे।

दिल्ली हाई कोर्ट ने डैस तीसरे चरण के कई मामले 18 अक्टूबर तक टाले

दिल्ली हाई कोर्ट ने सूचना व प्रसारण मंत्रालय समेत सभी पक्षों को निर्देश दिया है कि वे डैस की अधिसूचना को चुनौती देनेवाले मामलों को डैस के तीसरे चरण की समय सीमा से जुड़े मामलों से अलग करके देखें। इससे पहले बेंच ने तीसरे चरण के दो मामलों पर फैसला सुरक्षित रखा था।

दिल्ली हाई कोर्ट में डैस तीसरे चरण के कुछ मामलों पर निर्णय सुरक्षित, 7 अक्टूबर को फैसले की उम्मीद

दिल्ली हाई कोर्ट ने डैस के तीसरे चरण से संबंधित चार मामलों में अपना फैसला सुरक्षित रखा है। उम्मीद की जा रही है कि चीफ जस्टिस रोहिणी जी और जस्टिस संगीता ढींगरा सहगल की बेंच 7 अक्टूबर को इन मामलों पर अपना फैसला सुनाएगी।

दिल्ली हाई कोर्ट ने विज्ञापन समय सीमा का मामला अगले साल 12 जनवरी तक टाला

दिल्ली हाई कोर्ट ने विज्ञापन समय सीमा का मामला 12 जनवरी 2017 तक स्थगित कर दिया है। इससे पहले हुई सुनवाई में मामले को 29 सितंबर तक स्थगित किया गया था। इस मामले में 16 याचिकाकर्ता और तीन उत्तरदाता हैं। ढाई साल से ज़्यादा समय से यह मामला टलता ही जा रहा है।

दिल्ली हाई कोर्ट में डैस तीसरे चरण की एक याचिका खारिज़, चार टलीं 4 अक्टूबर तक

दिल्ली हाई कोर्ट ने डैस के तीसरे चरण की समय सीमा से संबंधित एक याचिका निरस्त कर दी है, जबकि चार अन्य याचिकाओं पर सुनवाई 4 अक्टूबर तक टाल दी है।