लाइव पोस्ट
चीन में शुरू हुआ दुनिया का सबसे ऊंचा पुल, 14.40 करोड़ डॉलर से बना
नोटबंदी को लेकर तृणमूल कांग्रेस का पीएम मोदी पर कटाक्ष- 'उम्मीद है कल बड़ी घोषणा करेंगे'
सीतापुर में यात्रियों से भरी बस नदी में पलटी, बचाव कार्य जारी
झारखंड में कोयला खदान के अंदर फंसे मजदूर, 10 शव निकाले गए
दिल्ली हाई कोर्ट ने शादियों के लिए बैंक खाते से 2.5 लाख रुपए निकालने के खिलाफ याचिका खारिज़ की
संसद के दोनों सदनों में नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी दलों का हंगामा जारी
घोषित काले धन पर लगेगा 50% टैक्स, लोकसभा ने आयकर अधिनियम में संशोधन पास किया
Tags : %E0%A4%AC%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A5%89%E0%A4%A1%E0%A4%95%E0%A4%BE%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%9F%E0%A4%B0

आईबीएफ व एयरटेल डिजिटल टीवी भी बने टैरिफ वृद्धि वापस लेने के मामले में पक्षकार

टीडीसैट ने 27.5% टैरिफ वृद्धि वापस लेने के ट्राई के फैसले को चुनौती देती याचिका में हस्तक्षेपक के रूप में आईबीएफ और एयरटेल डिजिटल टीवी को शामिल होने की अनुमति दे दी है। इस मामले की अगली सुनवाई 6 जनवरी को होगी।

नोटबंदी के बीच बढ़ रहा है विज्ञापन को रोकने, टालने या घटाने का डर

विक्रम सखूजा का कहना है, “नवंबर पर असर पड़ा है। देखना है कि दिसंबर कैसा जाता है। ब्रॉडकास्टरों के साथ मिलकर राह निकाली जा रही है।” शशि सिन्हा कहते हैं कि कुछ विज्ञापनदाता 30-40 दिन इंतज़ार कर सकते हैं। रोहित गुप्ता व आशीष सहगत मानते हैं कि माहौल में अनिश्चितता छा गई है।

मुद्रास्फीति संबंधी टैरिफ वृद्धि के मामले में आईबीएफ ने भी टीडीसैट में पक्ष बनने की अर्जी लगाई

स्टार के बाद, आईबीएफ ने भी गैर-एड्रेसेबल सिस्टम के इलाकों में मुद्रास्फीति से जुड़ी 27.5 प्रतिशत टैरिफ वृद्धि वापस लेने के ट्राई के फैसले के खिलाफ चल रहे मामले में खुद को एक पक्ष बनाने जा रहा है। टीडीसैट ने उसे ऐसा करने के लिए अनुमति दी है।

प्रसारण मंत्रालय ने अक्टूबर में नहीं जारी किया कोई टीवी लाइसेंस

देश में टीवी लाइसेंस दिए जाने की प्रक्रिया सुस्त पड़ती दिख रही है। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने अक्टूबर महीने में कोई लाइसेंस ही नहीं जारी किया है। यह साल 2016 का इकलौता महीना है जिसमें कोई नया लाइसेंस नहीं जारी किया गया है।

सरकार ने हर साल टीवी चैनलों के रिन्यूवल की अनिवार्यता खत्म की, 963 को फायदा

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने मौजूदा रूप में टीवी चैनलों के ‘वार्षिक नवीनीकरण’ पाने की प्रक्रिया को पूरी तरह से बदल दिया है। इससे देश में सक्रिय 963 ब्रॉडकास्टर और टेलिपोर्ट लाभान्वित होंगे। मंत्रालय का नया आदेश तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है।

गैर-न्यूज़ जॉनर में 112 पे-चैनलों ने मार्च-जून में तोड़ी विज्ञापन की हद

ट्राई के मुताबिक बी4यू मूवीज़ ने शाम 7 बजे से लेकर रात 10 बजे तक के व्यस्ततम समय के दौरान प्रति घंटे 24.54 मिनट के विज्ञापन दिखाए हैं। इस दौरान दूसरे चैनलों ने कितना विज्ञापन दिखाया है? एक नज़र हिंदी जीईसी, फिल्म, अंग्रेज़ी, इन्फोनटेमेंट, क्षेत्रीय व बच्चों के जॉनर पर।

ब्रॉडकास्टर, एमएसओ डैस के तीसरे चरण में एनालॉग सिग्नल को रोकने पर एकजुट

आईबीएफ और ऑल इंडिया डिजिटल केबल फेडरेशन यह सुनिश्चित करने के लिए सक्रिय हो गए हैं कि एनालॉग सिग्नल कोर्ट द्वारा निर्धारित अवधि के अनुसार बंद कर दिए जाएं। दोनों ने दिल्ली हाई कोर्ट के ताजा आदेश का स्वागत किया है।

मार्च-जून में 25 पे न्यूज़ चैनलों ने प्रति घंटे दिखाए 12 मिनट से ज्यादा विज्ञापन

जिन 25 न्यूज़ चैनलों ने 12 मिनट विज्ञापन समय सीमा को पार किया, उनमें से 8 चैनल अंग्रेज़ी व हिंदी के राष्ट्रीय न्यूज़ चैनल हैं। बाकी क्षेत्रीय न्यूज़ चैनल हैं।

सितंबर में 11 लाइसेंस रद्द करने से टीवी चैनलों की संख्या घटकर 881 पर आई

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा 11 लाइसेंस रद्द कर दिए जाने के कारण भारत में ब्रॉडकास्ट करने की अनुमति मिले निजी सैटेलाइट टेलिविजन चैनलों की संख्या 30 सितंबर 2016 तक घटकर महीने भर पहले के 891 की तुलना में 881 रह गई है।

प्रसारण मंत्रालय ने एक टीवी चैनल को लाइसेंस दिया, ग्यारह का लाइसेंस रद्द किया

देश में टीवी लाइसेंस दिए जाने की प्रक्रिया एकदम ठहर-सी गई है। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने सितंबर में केवल एक टेलिविजन चैनल को लाइसेंस दिया है। लेकिन मंत्रालय ने इसके साथ ही 11 टीवी चैनलों के डाउनलिंकिंग लाइसेंस रद्द कर दिए हैं।