लाइव पोस्ट
चीन में शुरू हुआ दुनिया का सबसे ऊंचा पुल, 14.40 करोड़ डॉलर से बना
नोटबंदी को लेकर तृणमूल कांग्रेस का पीएम मोदी पर कटाक्ष- 'उम्मीद है कल बड़ी घोषणा करेंगे'
सीतापुर में यात्रियों से भरी बस नदी में पलटी, बचाव कार्य जारी
झारखंड में कोयला खदान के अंदर फंसे मजदूर, 10 शव निकाले गए
दिल्ली हाई कोर्ट ने शादियों के लिए बैंक खाते से 2.5 लाख रुपए निकालने के खिलाफ याचिका खारिज़ की
संसद के दोनों सदनों में नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी दलों का हंगामा जारी
घोषित काले धन पर लगेगा 50% टैक्स, लोकसभा ने आयकर अधिनियम में संशोधन पास किया
Tags : %E0%A4%AE%E0%A4%B9%E0%A5%81%E0%A4%86-%E0%A4%AE%E0%A5%80%E0%A4%A1%E0%A4%BF%E0%A4%AF%E0%A4%BE

दिल्ली हाई कोर्ट के आदेश पर एसटीवी व महुआ के लाइसेंस बहाल किए गए

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने महुआ मीडिया और एसटीवी एंटरप्राइजेज के निरस्त किए गए लाइसेंस बहाल कर दिए हैं। दिल्ली हाई कोर्ट से उसे आदेश दिया था कि अगला आदेश आने तक इनके लाइसेंस बहाल कर दिए जाएं।

प्रसारण मंत्रालय ने नवंबर में तीन टीवी चैनल लाइसेंस दिए, सोनी को मिला एक

अक्टूबर में किसी भी टीवी चैनल को लाइसेंस न देने के बाद प्रसारण मंत्रालय ने नवंबर में तीन नए लाइसेंस जारी किए हैं। सोनी को पिक्स2 के लिए डाउनलिंकिंग लाइसेंस मिला है। नवदा क्रिएशंस का लाइसेंस रद्द कर दिया है और महुआ मीडिया के पांच व एसटीवी एंटरप्राइजेज़ के चार लाइसेंस बहाल हो गए हैं।

सूचना व प्रसारण मंत्रालय ने इस साल अब तक 18 टीवी चैनलों के लाइसेंस रद्द किए: राठौड़

जिन 18 टीवी चैनलों के लाइसेंस रद्द किए गए हैं, उनमें से 13 न्यूज़ चैनल थे, जबकि बाकी पांच गैर-न्यूज़ चैनल थे। इन लाइसेंसों को रद्द करने की वजह केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा सुरक्षा मंजूरी देने से इनकार कर दिया जाना है। सूचना व प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने यह जानकारी दी है।

नहीं बिके डेक्कन क्रॉनिकल के ट्रेडमार्क, आईडीबीआई बैंक को नहीं मिले खरीदार

आईडीबीआई बैंक को चार अखबारों – डेक्कन क्रॉनिकल, आंध्र भूमि, एशियन एज़ और फाइनेंशियल क्रॉनिकल के ट्रेडमार्क नीलाम करने के प्रस्ताव को एक बार फिर कोई भी खरीदार नहीं मिला।

टीडीसैट ने महुआ का मामला टाटा स्काई और चार एमएसओ की समिति को सौंपा

टीडीसैट ने भोजपुरी चैनल महुआ टीवी के मालिक, महुआ मीडिया के मामलों का प्रबंधन करने के लिए एक कमिटि का गठन किया है, जिसमें डिस्ट्रीब्यूशन प्लेटफार्म और कंपनी के प्रमोटर पी के तिवारी शामिल हैं। तिवारी वित्तीय धोखाधड़ी के आरोपों का सामना कर रहे हैं और फिलहाल ज़मानत पर बाहर हैं।

गृह मंत्रालय ने मां टीवी समेत आठ कंपनियों की सुरक्षा मंज़ूरी वापस ली, लेकिन स्टार पर असर नहीं

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मां टीवी नेटवर्क के चार चैनलों और पॉज़िटिव टेलिविज़न के छह चैनलों सहित आठ कंपनियों को सुरक्षा मंज़ूरी देने से इनकार कर दिया है। एक सूत्र ने बताया कि सुरक्षा मंज़ूरी मा टीवी नेटवर्क की पूर्व कंपनी से वापस ले ली गई है। इससे स्टार पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा क्योंकि स्टार ने मां टीवी की कंटेंट लाइब्रेरी और ब्रांड को ही लिया है, कंपनी को नहीं।