लाइव पोस्ट
चीन में शुरू हुआ दुनिया का सबसे ऊंचा पुल, 14.40 करोड़ डॉलर से बना
नोटबंदी को लेकर तृणमूल कांग्रेस का पीएम मोदी पर कटाक्ष- 'उम्मीद है कल बड़ी घोषणा करेंगे'
सीतापुर में यात्रियों से भरी बस नदी में पलटी, बचाव कार्य जारी
झारखंड में कोयला खदान के अंदर फंसे मजदूर, 10 शव निकाले गए
दिल्ली हाई कोर्ट ने शादियों के लिए बैंक खाते से 2.5 लाख रुपए निकालने के खिलाफ याचिका खारिज़ की
संसद के दोनों सदनों में नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी दलों का हंगामा जारी
घोषित काले धन पर लगेगा 50% टैक्स, लोकसभा ने आयकर अधिनियम में संशोधन पास किया
Tags : %E0%A4%B0%E0%A4%BF%E0%A4%B2%E0%A4%BE%E0%A4%82%E0%A4%AF%E0%A4%B8-%E0%A4%95%E0%A4%AE%E0%A5%8D%E0%A4%AF%E0%A5%81%E0%A4%A8%E0%A4%BF%E0%A4%95%E0%A5%87%E0%A4%B6%E0%A4%82%E0%A4%B8

अनिल अंबानी के मीडिया व मनोरंजन बिजनेस का परदा सिमटता जा रहा है

अनिल अंबानी के मीडिया व मनोरंजन बिजनेस का पटाक्षेप होता जा रहा है। हाल ही में उनके समूह ने अपनी टीवी आस्तियां ज़ी एंटरटेनमेंट और एफएम रेडियो बिजनेस का 49% स्वामित्व ज़ी मीडिया को बेचने का निर्णय लिया है। ज़ी मीडिया के पास बाकी 51% इक्विटी हिस्सा भी खरीदने का विकल्प है।

रिलायंस डिजिटल टीवी लगातार तीसरी तिमाही नहीं जोड़ पाई कोई नया ग्राहक

रिलायंस डिजिटल टीवी का सब्सक्राइबर आधार लगातार तीसरी तिमाही 50 लाख पर अटका रहा, जबकि एटरटेल डिजिटल, डिश टीवी और वीडियोकॉन डी2एच ने क्रमशः 2.56 लाख, 2.43 लाख और 2.30 लाख सब्सक्राइबर बढ़ाए हैं।

रिलायंस डिजिटल टीवी का सब्सक्राइबर आधार अटका पड़ा रहा 50 लाख पर

रिलायंस डिजिटल टीवी से न तो कोई सब्सक्राइबर जुड़ा है, न ही कोई चर्न हुआ। ऐसा लगातार दूसरी तिमाही में हुआ है। उसका सब्सक्राइबर आधार 30 जून 2016 तक 50 लाख पर अटका हुआ है।

रिलायंस कम्युनिकेशंस ने डीटीएच बिजनेस को निकालने की कोशिशें तेज़ कीं

आरकॉम ने ऋण का बोझ घटाने के लिए अपने बिजनेस, रिलायंस डिजिटल टीवी को अलग करने की योजना दोहराई है। रिलायंस डिजिटल टीवी का सब्सक्राइबर आधार लंबे समय से 50 लाख पर अटका हुआ है। कंपनी इसे बढ़ाने की कोई कोशिश भी नहीं कर रही है।

आरकॉम और एयरसेल में विलय, बनेगी भारत की चौथी सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी

विलय से बनी कंपनी के पास 65,000 करोड़ रुपए की आस्तियां होंगी। उसके पास देश के सभी ऑपरेटरों के बीच दूसरी सबसे बड़ी स्पेक्ट्रम-धारिता होगी। सारे 850, 900, 1800 और 2100 मेगाहर्ट्ज बैंड पर उसके पास 448 मेगाहर्ट्ज का स्पेक्ट्रम होगा।

जून में 10 लाख ब्रॉडबैंड सब्सक्राइबरों का निशान पार किया एट्रिया कन्वर्जेन्स ने

एट्रिया सरकारी स्वामित्व वाली बीएसएनएल व एमटीएनएल और निजी टेलिकॉम ऑपरेटर भारती एयरटेल के बाद यह मंज़िल हासिल करनेवाली चौथी वायर्ड ब्रॉडबैंड सेवा प्रदाता बन गई है। साथ ही एट्रिया इकलौती स्टैंडअलोन ब्रॉडबैंड कंपनी है जिसने 10 लाख सब्सक्राइबर हासिल किए हैं।

देश में ब्रॉडबैंड सब्सक्राइबर आधार मई अंत तक 5.74% बढ़कर 15.98 करोड़ पर

ट्राई के आंकड़ों के मुताबिक, मई अंत में देश के शीर्ष के पांच वायर्ड ब्रॉडबैंड सेवा प्रदाता हैं – बीएसएनएल (98.9 लाख), भारती एयरटेल (17.9 लाख), एमटीएनएल (11 लाख), एट्रिया कन्वर्जेंस टेक्नोलॉज़ीज (9.9 लाख) और यू ब्रॉडबैंड (5.5 लाख)।

रिलायंस जियो 15 लाख टेस्ट यूज़र्स के साथ 4जी सेवाओं के व्यावसायिक लॉन्च को तैयार

रिलायंस जियो इन्फोकॉम 4जी सेवाओं को लॉन्च करने की दिशा में ‘पूरी तैयारी के साथ’ आगे बढ़ रही है। उसके नेटवर्क पर 15 लाख से ज्यादा टेस्ट यूजर जुड़ चुके हैं। प्रति यूज़र महीने की औसत खपत 26 जीबी से अधिक है और प्रति माह वॉयस का औसत उपयोग 355 मिनट से ज्यादा का है।

रिलायंस डिजिटल टीवी ने चौथी तिमाही में नहीं जोड़े एक भी सब्सक्राइबर

जिस तिमाही में तमाम डीटीएच ऑपरेटरों ने रिकॉर्ड सब्सक्राइबरों को जोड़ने की घोषणा की है, उसी तिमाही में रिलायंस डिजिटल टीवी का मामला एकदम ठंडा रहा है। अनिल अंबानी की इस कंपनी का कुल सब्सक्राइबर आधार 50 लाख पर अटका पड़ा रहा।

क्रिकेट विश्व कप की साइट पर भारी ट्रैफिक, पहुंचे 2.6 करोड़ से ज्यादा यूनीक विजिटर

साइट पर आनेवालों की खास दिलचस्पी एकदम नए आईसीसी क्रिकेट विश्व कप मैच सेंटर में है। इसे सैप हाना द्वारा चलाया जा रहा है। इसमें सबसे तेजी से लाइव स्कोर ऑनलाइन दिए जाते हैं। मैच की वीडियो क्लिप 200 से ज्यादा देशों के क्रिकेट-प्रेमियों में भारी लोकप्रिय साबित हुए हैं।