लाइव पोस्ट

डिट्टो टीवी की सालाना आय 70 करोड़ रुपए के पार, जुटाए 30 लाख पेड सब्सक्राइबर

मुंबई: ज़ी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड (ज़ेडईईएल) की ओवर-द-टॉप (ओटीटी) इकाई, डिट्टो टीवी ने 30 लाख पेड सब्सक्राइबर हासिल कर लिए हैं और उसकी सालाना आय 70 करोड़ रुपए से ज्यादा हो चुकी है।

ज़ी एंटरटेनमेंट के प्रबंध निदेशक व सीईओ पुनीत गोयनका ने मीडिया विश्लेषकों बताया कि डिट्टो टीवी की प्रति यूज़र औसत आय (एआरपीयू) फिलहाल 20 रुपए चल रही है। इस ओटीटी सेवा के विभिन्न सब्सक्रिप्शन पैक हैं। इसमें एक दिन और एक महीने से लेकर एक साल तक के पैक शामिल हैं।

हालांकि डिट्टो टीवी को अभी मुख्य रूप से भारत से ही आय मिल रही है, लेकिन वो अगले कुछ महीनों में अंतरराष्ट्रीय पर ज़ोर बढ़ाएगा। योजना इस ओटीटी सेवा को नए भौगोलिक इलाकों तक ले जाने और उन बाज़ारों में वहां का ही स्थानीय कंटेंट पेश करने की है। विचार न सिर्फ भारतीय आप्रवासियों के लिए डिट्टो टीवी को एक उत्पाद के बतौर पेश करना है, बल्कि इसे ऐसा बनाना है जिससे कोई भी आबादी आनंद ले सके।

यह ओटीटी प्लेटफॉर्म ऐसा अनन्य कंटेंट देना शुरू कर चुक है जो टेलिविज़न पर उपलब्ध नहीं है। इसी साल फरवरी में उसने अपनी पहली मौलिक सीरीज़ ‘स्ट्रगलर्स’ लॉन्च की है।

गोयनका ने बताया, “ऐसा और भी कंटेंट डिट्टो पर आएगा जो उस प्लेटफॉर्म पर प्रीमियम भुगतान करने का औचित्य साबित कर देगा।”

ज़ी एंटरटेनमेंट की नई मीडिया शाखा ज़ी डिजिटल कन्वर्जेंस के तहत चलाया जा रहा डिट्टो टीवी इस समय हॉरर, हास्य, वेब सीरीज़, मूवीज़ व लघु फिल्मों जैसे विभिन्न जॉनरों में मौलिक कंटेंट बनाने पर गौर कर रहा है।

ज़ी डिजिटल कन्वर्जेंस के तहत चलाया जा रहा अन्य ब्रांड ओज़ी है। इसकी रणनीति अलग है। यह विज्ञापन-युक्त वीडियो-ऑन-डिमांड प्लेटफॉर्म है। इसमें संभावना के हिसाब से निवेश किया जाएगा और निवेश पर रिटर्न (आरओआई) को पैमाना बनाया जाएगा।

गोयनका का कहना है, “डिट्टो और ओज़ी दो स्वतंत्र प्लेटफॉर्म व बिजनेस हैं। हम दोनों के ही विकास को आगे ले जा रहे हैं।”

ओज़ी पर केवल ज़ी एंटरटेनमेंट के स्वामित्व वाला हिंदी, मराठी, तमिल, तेलुगू, कन्नड़ व बंगाली कंटेंट होगा। वहीं, दूसरी तरफ डिट्टो टीवी अन्य ब्रॉडकास्टरों के भी कंटेंट जुटाकर पेश करेगा। वो मौलिक कंटेंट भी प्रोड्यूस करेगा जो साथ-साथ ओज़ी पर भी उपलब्ध कराया जाएगा।