लाइव पोस्ट
चीन में शुरू हुआ दुनिया का सबसे ऊंचा पुल, 14.40 करोड़ डॉलर से बना
नोटबंदी को लेकर तृणमूल कांग्रेस का पीएम मोदी पर कटाक्ष- 'उम्मीद है कल बड़ी घोषणा करेंगे'
सीतापुर में यात्रियों से भरी बस नदी में पलटी, बचाव कार्य जारी
झारखंड में कोयला खदान के अंदर फंसे मजदूर, 10 शव निकाले गए
दिल्ली हाई कोर्ट ने शादियों के लिए बैंक खाते से 2.5 लाख रुपए निकालने के खिलाफ याचिका खारिज़ की
संसद के दोनों सदनों में नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी दलों का हंगामा जारी
घोषित काले धन पर लगेगा 50% टैक्स, लोकसभा ने आयकर अधिनियम में संशोधन पास किया

चैनल वी पहली जुलाई से बन जाएगा म्यूज़िक केंद्रित युवाओं का चैनल

मुंबई: चैनल वी पहली जुलाई से एक युवा केंद्रित म्यूजिक चैनल बन जाएगा। अपने लॉन्च के ठीक चार साल बाद उसने म्यूज़िक टैग हटाकर एक युवा जीईसी बनने का फैसला किया है।

चैनल का फिक्शन कंटेंट जून के अंत तक चलेगा। जुलाई से री-पोजिशन किए गए चैनल का ताजा म्यूज़िक प्रोग्रामिंग होगा।

Channel-v-Indiaस्टार इंडिया के एक प्रवक्ता ने कहा, “चैनल वी एक युवा केंद्रित म्यूज़िक ब्रांड के रूप में 1 जुलाई से आएगा।”

प्रवक्ता ने कहा, “वर्तमान शो जून के अंत तक चलेंगे, उसके बाद चैनल नई पहचान और प्रोग्रामिंग के साथ आएगा।”

पोजिशनिंग में परिवर्तन चैनल पर फिक्शन कंटेंट के खराब प्रदर्शन से किया गया है। ध्यान रखें कि ज्यादातर युवाओं को लक्षित चैनल, म्यूज़िक के साथ साथ युवाओं के कंटेंट की पेशकश करते है।

चैनल पर कुछ शो हैं ‘साड्डा हक’, ‘डी4’, ‘गुमराह: एंड ऑफ इनोसंस’, ‘मस्तांगी’, ‘दिल दोस्ती डांस’ और ‘द बडी प्रोजेक्ट’।

29 अप्रैल को समाप्त हुए 17वें सप्ताह के लिए बीएआरसी के आंकड़ों के अनुसार चैनल वी युवाओं के जीईसी जॉनर में शीर्ष पांच चैनलों में शामिल नहीं था। बिंदास सप्ताह के दौरान नंबर 1 युवाओं का चैनल था। उसके बाद एमटीवी का नंबर रहा। शीर्ष 5 सूची के बाकी तीन युवाओं के म्यूज़िक चैनल जिंग, ज़ूम और ई24 थे।

चैनल वी आधिकारिक तौर पर 1 जुलाई 2012 से युवा जीईसी की मौजूदा पोजिशनिंग में स्थानांतरित कर दिया गया था। यह बदलाव 2009 में शुरू हो गया था जब म्यूज़िक पर उसने अपना ध्यान केंद्रित करना कम कर दिया था।

चैनल भारतीय युवाओं पर केंद्रित कंटेंट का प्रसारण अब तीन साल से कर रहा है। चैनल पर विविध प्रोग्राम हैं जो किशोर प्रतिभा, कॉलेज या कैम्पस जीवन, किशोर प्रेम संबंधों और यहां तक ​​कि किशोर अपराध पर केंद्रित शो हैं।

चैनल ने 2014 के बाद से बिज़नेस हेड में कई बार परिवर्तन देखा है। फरवरी 2009 के बाद से चैनल के हेड रहे प्रेम कामथ ने अगस्त 2014 में चैनल छोड़ दिया था। कामत के इस्तीफे के बाद लाइफ ओके के बिज़नेस हेड अजीत ठाकुर के हाथ में चैनल वी की पतवार आई। आखिरकार केविन वाज ने ठाकुर के जाने के बाद चैनल का प्रभार लिया।