लाइव पोस्ट

2.07 करोड़ घरों में 4.94 करोड़ ने देखा आईपीएल फाइनल

मुंबई: आईपीएल-8 में मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के फाइनल मैच में भले ही कांटे का टक्कर का रोमांच न रहा हो, लेकिन वह दर्शकों को बड़े पैमाने पर खींचने में सफल रहा।

रेटिंग एजेंसी, ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (बीएआरसी) इंडिया के अनुसार, आईपीएल फाइनल को देश के 2.07 करोड़ घरों में 4.94 करोड़ लोगों ने औसतन 1 घंटे 8 मिनट तक देखा है।

मालूम हो  कि बीएआरसी इंडिया की रेटिंग अब उद्योग की नई मानक बन चुकी है। इसे ब्रॉडकास्टरों, मीडिया एजेंसियों और विज्ञापनदाताओं ने अपने शीर्ष संगठनों के ज़रिए बनाया है। अब बीएआरसी का दिया डेटा ही उद्योग द्वारा इस्तेमाल किया जाता है।

पुरानी एजेंसी, टैम मीडिया रिसर्च ने भी आईपीएल के लिए रेटिंग डेटा पेश किए हैं। टैम के अनुसार, इसके फाइनल मैच की रेटिंग 7.4 टीवीआर रही है।

आईपीएल के आधिकारिक ब्रॉडकास्टर मल्टी स्क्रीन मीडिया (एमएसएम) इस बात को लेकर बहुत उत्साहित है कि इस कैश-संपन्न टी20 लीग की लोकप्रियता पिछले संस्करण से अच्छी-खासी बढ़ गई है।

टैम के मुताबिक, 60 मैचों के आईपीएल सीज़न-8 को 3.8 टीवीआर मिली है, जो पिछले सीज़न की तुलना में 20 प्रतिशत ज्यादा है।

इस टूर्नामेंट को 19.2 करोड़ अलग-अलग दर्शकों ने देखा। यह पिछले सीज़न की संख्या 19.1 करोड़ से 0.1 प्रतिशत अधिक है।

इस बार प्रति मैच बिताया गया समय 46 मिनट 17 सेकंड का रहा। यह आईपीएल की सीजन-7 से 9 प्रतिशत अधिक है।

आईपीएल सीजन-8 के दौरान औसत टीवीटी पिछले सीजन के 8366 से 21 प्रतिशत बढ़कर 10,151 हो गई।

अखिल भारतीय स्तर पर 71 प्रतिशत दर्शकों ने आईपीएल-8 के मैचों को देखा। यह पिछले सीजन के 72 प्रतिशत के मुकाबले थोड़ा कम है।

यह भी पढ़ें: