लाइव पोस्ट

प्रसारण मंत्रालय ने नवंबर में तीन टीवी चैनल लाइसेंस दिए, सोनी को मिला एक

मुंबई: अक्टूबर में किसी भी टीवी चैनल को लाइसेंस न देने के बाद सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने नवंबर महीने में न्यूज़ से इतर विषयों से संबंधित तीन नए लाइसेंस जारी कर दिए हैं।

साथ ही मंत्रालय ने एक लाइसेंस निरस्त कर दिया है। यह लाइसेंस नवदा क्रिएशंस का है। इसके अलावा उसने महुआ मीडिया के पांच टीवी लाइसेंस और एसटीवी एंटरप्राइजेज के चार लाइसेंस बहाल कर दिए हैं।

नवंबर में तीन टीवी चैनलों को लाइसेंस जारी

सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया (एसपीएनआई) को सोनी पिक्स2 के लिए डाउनलिंकिंग लाइसेंस मिला है। अन्य दो लाइसेंस प्राप्तकर्ता एसवीबीसी2 को श्री वेंकटेश्वर भक्ति चैनल के लिए और येलामंचीली टीवी के लिए योने टीवी को मिला है।

योने टीवी, जो पूरी तरह से पहला तेलुगु वेब टीवी चैनल है, उसने केबल टीवी तक विस्तार किया है। अब यह एक सैटेलाइट चैनल के रूप में लॉन्च होगा।

वर्तमान में, श्री वेंकटेश्वर भक्ति चैनल, आध्यात्मिक चैनल श्री वेंकटेश्वर भक्ति चैनल चला रहा है और उसका मालिक है।

New-channels-Master-List-of-Permitted-Private-Satellite-TV-Channels-as-on-25.11.2016

नवदा क्रिएशंस का लाइसेंस रद्द

प्रसारण मंत्रालय ने नवदा के तहत नवदा क्रिएशंस का अपलिंकिंग का गैर-न्यूज़ लाइसेंस रद्द कर दिया है। यह लाइसेंस इसी साल अगस्त में जारी किया गया था।

प्रसारण मंत्रालय ने एसटीवी इंटरप्राइजेज़ और महुआ मीडिया के स्वामित्व वाले नौ टीवी चैनलों के लाइसेंस भी बहाल किए हैं।

एसटीवी के चार न्यूज़ अपलिंकिंग लाइसेंस – पंजाब टुडे, एसटीवी जम्मू-कश्मीर न्यूज़, एसटीवी हरियाणा न्यूज़ और एसटीवी यूपी न्यूज, बहाल कर दिए गए हैं।

महुआ मीडिया के तीन न्यूज़ लाइसेंस – महुआ, महुआ न्यूज़ और फर्स्ट इंडिया के साथ-साथ दो गैर-न्यूज़ लाइसेंस, महुआ म्यूज़िक और महुआ मूवीज़ बहाल कर दिए हैं।

Highlight-Master-List-of-Permitted-Private-Satellite-TV-Channels-as-on-25.11.2016

ये लाइसेंस दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा दिए गए स्टे ऑर्डर के बाद बहाल किए गए हैं। ये लाइसेंस गृह मंत्रालय द्वारा सुरक्षा मंज़ूरी देने से इनकार के कारण रद्द कर दिए गए थे।

अनुमति प्राप्त टीवी चैनल लाइसेंसों की संख्या 892 पर

तीन नए लाइसेंस जारी करने, एक रद्द करने और नौ को बहाल करने के बाद, 25 नवंबर तक अनुमति प्राप्त टीवी चैनलों के लाइसेंस की संख्या 892 तक पहुंच गई है। अक्तूबर में, अनुमति प्राप्त टीवी चैनलों की संख्या 881 पर थी।

न्यूज़ चैनलों की संख्या 399 से 406 तक ऊपर पहुंच गई है, जबकि गैर-न्यूज़ चैनलों की संख्या 482 से बढ़कर 486 हो गई है।

रद्द किए गए टीवी चैनलों के लाइसेंस की संख्या पिछले एक महीने में 161 से 153 तक कम हुई है। ताजा स्थिति के मुताबिक 25 नवंबर 2016 तक देश में 1045 निजी टीवी चैनलों को लाइसेंस दिए गए हैं। एक महीने यह संख्या 1042 रही थी।