लाइव पोस्ट

सन टीवी का शुद्ध लाभ 19% बढ़ा, आईपीएल फ्रैंचाइज़ी को ₹31.8 करोड़ का घाटा

मुंबई: सन टीवी नेटवर्क का शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष 2016-17 की पहली तिमाही में बढ़कर 233.06 करोड़ रुपए हो गया है। यह पिछले वित्त वर्ष 2015-16 की पहली तिमाही के 195.82 करोड़ रुपए के शुद्ध लाभ से 19 प्रतिशत ज्यादा है।

30 जून 2016 को समाप्त तिमाही में कंपनी का परिचालन लाभ (ब्याज, टैक्स, मूल्यह्रास व अमोर्टिजेशन से पूर्व लाभ) साल भर पहले के 406.93 करोड़ रुपए की बनिस्बत 7 प्रतिशत बढ़कर 436.43 करोड़ रुपए हो गया है।

इस दौरान उसकी परिचालन आय 689.45 करोड़ रुपए से 10.35 प्रतिशत बढ़कर 760.83 करोड़ रुपए हो गई, जबकि खर्च मात्र 3 प्रतिशत बढ़कर 412.69 करोड़ रुपए से 425.17 करोड़ रुपए पर पहुंच गया।

Statement of unaudited financial results for the quarter ended june 30, 2016

कंपनी ने अलग-अलग सेगमेंट की आय का ब्योरा न देते हुए इतना बताया है कि साल भर पहले की तुलना में जून 2016 की तिमाही के दौरान उसकी सब्सक्रिप्शन आय में अच्छी दहाई अंकों की वृद्धि हुई है, केबल टीवी की आय 37 प्रतिशत बढ़ी है और डीटीएच की सब्सक्रिप्शन आय में 16 प्रतिशत इजाफा हुआ है।

आईपीएल फ्रैंचाइज़ी सनराइजर्स हैदराबाद

Sunrisers-Hyderabad1-300x300तिमाही के नतीजों में कंपनी की इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की फ्रैंचाइज़ी सनराइजर्स हैदराबाद की आय भी शामिल है।

कंपनी को सनराइजर्स हैदराबाद से इस दौरान 31.8 करोड़ रुपए का परिचालन घाटा हुआ है।

इस दौरान आईपीएल फ्रैंचाइज़ी से उसकी आय 144.04 करोड़ रुपए रही है, जबकि इस पर कुल 175.84 करोड़ रुपए का खर्च हुआ है।

गृह मंत्रालय और हाई कोर्ट

आलोच्य तिमाही में मद्रास हाई कोर्ट ने 14 जून को दिए गए आदेश में सूचना व प्रसारण मंत्रालय के दिनांक 15 जुलाई 2015 के आदेश को रद्द कर दिया। मंत्रालय ने अपने आदेश में गृह मंत्रालय द्वारा सुरक्षा मंज़ूरी देने से इनकार के कारण सन टीवी समूह का तीसरे चरण के एफएम रेडियो की नीलामी में भाग लेने का आवेदन खारिज़ कर दिया था। कोर्ट ने प्रसारण मंत्रालय को निर्देश दिया कि वो समूह द्वारा ई-नीलामी में हासिल की गई नई एफएम फ्रीक्वेंसियों के शहरों का खुलासा करे।

कोर्ट ने प्रसारण मंत्रालय को यह भी निर्देश दिया कि वो समूह के नए लाइसेंसों और मौजूदा एफएम रेडियो लाइसेंसों को तीसरे चरण की लाइसेंसिंग व्यवस्था में ले जाने के लिए उसके साथ ग्रांट ऑफ परमिशन एग्रीमेंट (गोपा) पर हस्ताक्षर करे।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा सही ठहराए गए दिल्ली हाई कोर्ट के अनुकूल आदेश का पालन करते हुए समूह की दो कंपनियां साउथ एशिया एफएम और कल रेडियो उसके बाद तीन नए लाइसेंसों के लिए गोपा पर हस्ताक्षर कर चुकी हैं। उन्होंने मुंबई में एक एफएम स्टेशन को चालू भी कर दिया है। कंपनी का कहना है कि इसके अलावा, ये कंपनियां पहली तिमाही में मौजूदा स्टेशनों को तीसरे चरण की लाइसेंस व्यवस्था के अंतर्गत ले गई हैं।