लाइव पोस्ट
चीन में शुरू हुआ दुनिया का सबसे ऊंचा पुल, 14.40 करोड़ डॉलर से बना
नोटबंदी को लेकर तृणमूल कांग्रेस का पीएम मोदी पर कटाक्ष- 'उम्मीद है कल बड़ी घोषणा करेंगे'
सीतापुर में यात्रियों से भरी बस नदी में पलटी, बचाव कार्य जारी
झारखंड में कोयला खदान के अंदर फंसे मजदूर, 10 शव निकाले गए
दिल्ली हाई कोर्ट ने शादियों के लिए बैंक खाते से 2.5 लाख रुपए निकालने के खिलाफ याचिका खारिज़ की
संसद के दोनों सदनों में नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी दलों का हंगामा जारी
घोषित काले धन पर लगेगा 50% टैक्स, लोकसभा ने आयकर अधिनियम में संशोधन पास किया

वायकॉम18 की आय वित्त वर्ष 2015-16 में 27.5% चढ़ी, शुद्ध लाभ 15% बढ़ा

मुंबई: हिंदी के अपने अग्रणी सामान्य मनोरंजन चैनल (जीईसी) कलर्स की ताकत और दूसरे सभी चैनलों में हो रहे विकास की बदौलत वायकॉम18 मीडिया ने बीते वित्त वर्ष 2015-16 में मजबूत प्रदर्शन किया है और चालू वित्त वर्ष 2016-17 में भी उसे अपनी आय के 20 प्रतिशत बढ़ जाने की अपेक्षा है।

मालूम हो कि वायकॉम18 मीडिया, मुकेश अंबानी के नियंत्रण वाली कंपनी टीवी18 और अमेरिकी मीडिया समूह वायकॉम की 50:50 प्रतिशत इक्विटी हिस्सेदारी वाली संयुक्त उद्यम कंपनी है। उसका शुद्ध लाभ वित्त वर्ष 2015-16 में उससे पहले के वित्त वर्ष के 168.49 करोड़ रुपए से 14.8 प्रतिशत बढ़कर 193.43 करोड़ रुपए हो गया है।

इस दौरान उसका टैक्स-पूर्व लाभ साल भर पहले के 216.74 करोड़ रुपए से बढ़कर 250.83 करोड़ रुपए हो गया है।

viacom18आलोच्य अवधि में उसकी आय 2414.95 करोड़ रुपए रही है। यह उससे पिछले वित्त वर्ष 2014-15 में हुई आय 1893.43 करोड़ रुपए से 27.54 प्रतिशत अधिक है।

वित्त वर्ष 2915-16 में उसकी विज्ञापन बिक्री, डिस्ट्रीब्यूशन व प्रोग्राम सिंडीकेशन आय 2138.69 करोड़ रुपए रही है। यह साल भर पहले इस मद में कमाए गए 1748.31 रुपए से 22.33 प्रतिशत ज्यादा है।

कंपनी को फिल्म डिस्ट्रीब्यूशन व सिंडीकेशन से मिली आय ‘मैं गब्बर’ और ‘दृष्यम’ की बड़ी रिलीज़ के कारण 99.45 करोड़ रुपए से दोगुनी से भी ज्यादा होकर 222.12 करोड़ रुपए पर पहुंच गई।

वहीं, इस दौरान उसका खर्च साल भर पहले के 1685.59 करोड़ रुपए की तुलना में 28.39 प्रतिशत बढ़कर 2164.12 करोड़ रुपए हो गया। उसका सबसे बड़ा खर्च प्रोग्रामिंग लागत का रहा है जो 970.54 करोड़ रुपए से 26.47 प्रतिशत बढ़कर 1227.4 करोड़ रुपए हो गई है।

वित्त वर्ष 2015-16 के दौरान कंपनी की मार्केटिंग व विज्ञापन लागत एक साल पहले के 180.07 करोड़ रुपए से 42.28 प्रतिशत बढ़कर 256.21 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। साथ ही उसने चैनलों के ट्रांसमिशन व अपलिंकिंग पर इस बार 66.6 करोड़ रुपए खर्च किया है, जबकि इससे पिछले वित्त वर्ष में यह खर्च 44.8 करोड़ रुपए रहा था।

कंपनी ने इस बार 20.23 करोड़ रुपए की लाइसेंस फीस दी है, जो साल भर पहले 16.91 करोड़ रुपए रही थी। इस दौरान उसकी अन्य डिस्ट्रीब्यूशन लागत 127.6 करोड़ रुपए से 23.12 प्रतिशत बढ़कर 20.23 करोड़ रुपए हो गई।

वित्त वर्ष 2015-16 में, वायकॉम18 ने दो चैनल लॉन्च किए। कंपनी ने कलर्स इन्फिनिटी के साथ अंग्रेज़ी मनोरंजन क्षेत्र में प्रवेश किया, जो दूसरी तिमाही में शुरू किया गया था। उसने तीसरी तिमाही में, बच्चों का एक एचडी चैनल, निक एचडी+ भी लॉन्च किया।

वित्त वर्ष के दौरान प्रिज़्म टीवी के पांच क्षेत्रीय चैनलों ईटीवी मराठी, ईटीवी कन्नड़, ईटीवी बांग्ला, ईटीवी ओडिया और ईटीवी गुजराती के शामिल किए जाने के साथ वायकॉम18 के पोर्टफोलियो का विस्तार हो गया। प्रिज्म टीवी में वायाकॉम18 द्वारा 940 करोड़ रुपए में बाकी 50 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीद लिए जाने के बाद उसका वायकॉम18 के साथ विलय कर दिया गया था। साथ ही कंपनी ने क्षेत्रीय चैनलों को कलर्स का ब्रांड देकर री-ब्रांड किया।

बाद में 1 अगस्त 2015 से प्रिज्म टीवी को कंपनी के एक संयुक्त उद्यम के रूप में तब्दील कर दिया गया।

वित्त वर्ष 2015-16 में प्रिज़्म टीवी का शुद्ध घाटा 55.87 करोड़ रुपए से बढ़कर 134.79 करोड़ रुपए पर पहुंच गया।

इस दौरान उसकी परिचालन आय 29.17 प्रतिशत बढ़कर 429.47 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। इससे पिछले वित्त वर्ष में परिचालन से कंपनी की आय 332.5 करोड़ रुपए रही थी।

इस बार उसकी विज्ञापन आय 318.77 करोड़ रुपए और सबसक्रिप्शन आय 110.4 करोड़ रुपए रही है। वित्त वर्ष 2014-15 में उसकी विज्ञापन आय 241.8 करोड़ रुपए रही थी, जबकि सब्सक्रिप्शन आय 89.75 करोड़ रुपए दर्ज की गई थी।

वित्त वर्ष 2015-16 में प्रिज़्म टीवी का कुल खर्च 382.62 करोड़ रुपए से 27.97 प्रतिशत बढ़कर 489.65 करोड़ रुपए पर पहुंच गया।

प्रिज़्म टीवी को मिलाकर वायकॉम18 का सम्मिलित टर्नओवर वित्त वर्ष 2015-16 में 2848.73 करोड़ रुपए रहा है।

गौरतलब है कि वायकॉम18 की लगभग 60 प्रतिशत आय कलर्स हिंदी से आती है, जबकि उसका 20 प्रतिशत हिस्सा क्षेत्रीय व बच्चों के चैनल से आता है।