लाइव पोस्ट
चीन में शुरू हुआ दुनिया का सबसे ऊंचा पुल, 14.40 करोड़ डॉलर से बना
नोटबंदी को लेकर तृणमूल कांग्रेस का पीएम मोदी पर कटाक्ष- 'उम्मीद है कल बड़ी घोषणा करेंगे'
सीतापुर में यात्रियों से भरी बस नदी में पलटी, बचाव कार्य जारी
झारखंड में कोयला खदान के अंदर फंसे मजदूर, 10 शव निकाले गए
दिल्ली हाई कोर्ट ने शादियों के लिए बैंक खाते से 2.5 लाख रुपए निकालने के खिलाफ याचिका खारिज़ की
संसद के दोनों सदनों में नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी दलों का हंगामा जारी
घोषित काले धन पर लगेगा 50% टैक्स, लोकसभा ने आयकर अधिनियम में संशोधन पास किया

ज़ी युवा के साथ ज़ी एंटरटेनमेंट के पास मराठी बाज़ार में हो जाएंगे दो जीईसी

मुंबई: मराठी किसी भी क्षेत्रीय भाषा का पहला बाज़ार बन जाएगा जहां ज़ी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज़ लिमिटेड (ज़ेडईईएल) के दो सामान्य मनोरंजन चैनल (जीईसी) होंगे।

ज़ेडईईएल, अपना दूसरा मराठी जीईसी ज़ी युवा 22 अगस्त को लॉन्च कर रहा है। 40 साल से कम उम्र के आयु-समूह पर लक्षित, ज़ी युवा इस बाज़ार में दूसरा ज़ीईसी होगा। ज़ेडईईएल पहले ही टॉप रेटेड चैनल, ज़ी मराठी चलाता है।

ज़ी मराठी 60 प्रतिशत से अधिक की हिस्सेदारी के साथ मराठी ज़ीईसी क्षेत्र में एक प्रमुख प्लेयर है। मराठी टीवी विज्ञापन बाज़ार 500 करोड़ रुपए का होने का अनुमान है।

Bavesh-Janavlekar-_Business-Head-Zee-Yuva-Zee-Talkiesज़ी युवा के बिजनेस हेड बवेश जानवलेकर ने कहा कि नया चैनल एक ताज़गी भरा ज़ीईसी है और एमटीवी या बिंदास की तरह एक युवा ज़ीईसी नहीं है। उन्होंने यह भी ज़ोर देकर कहा कि ज़ी युवा मराठी जॉनर में सबसे बड़े लॉन्च में से एक होगा।

जानवलेकर ने कहा, “ज़ी युवा एक युवा ज़ीईसी नहीं है; यह एक ताज़ा ज़ीईसी है। चैनल उम्र के बारे में नहीं, मानसिकता के बारे में है। यह एक एमटीवी या एक बिंदास नहीं है; यह उससे ज्यादा है। यह ताज़गी भरा है और इसलिए ज़ी युवा है।”

नए चैनल में फिक्शन, नॉन फिक्शन और फिल्म कंटेंट का मिश्रण होगा। अन्य चैनलों से ज़ी युवा अलग कैसे होगा? तो यह महिला तरफी नहीं होगा। ज़ी युवा पर नाटक और कॉमेडी के मिश्रण वाले शो होंगे।

उन्होंने कहा, “मराठी ज़ीईसी में, कहानी तब शुरू होती है जब महिला शादी करती है। ज़ीईसी पर फिक्शन शो का आधार परिवार है, जबकि हमारे फिक्शन शो परिवार पर आधारित नहीं हैं। शो कॉलेज और दोस्तों के आसपास केंद्रित होंगे। इसमें परिवार भी होगा, लेकिन थोड़े अलग तरीके से होगा। बहुत सारा हल्का-फुल्का हास्य होगा। इसमें नाटक भी होगा, और कॉमेडी भी होगी।”

Zee-Yuva-Logoजानवलेकर के अनुसार, पहुत सी फिल्में युवाओं के लिए बनती है। पर जब युवाओं के लिए टेलिविज़न कंटेंट की बात आती है तो खाली जगह बहुत बड़ी हो जाती है। उन्होंने आगे कहा कि मेनलाइन मराठी ज़ीईसी 40 वर्ष से अधिक महिला दर्शकों की ओर झुका हुआ है।

उन्होंने कहा, “महाराष्ट्र में, युवाओं के कंटेंट के लिए बड़े मौके हैं। पिछले कुछ वर्षों में, 10 में से 8 फिल्में युवाओं के लिए बनी है। फिल्मों में, मराठी दर्शकों को विविधता मिल जाती है। पर टीवी पर तीनों ज़ीईसी मुख्य रूप से महिलाओं को केंद्रित कर और पारिवारिक कंटेंट पेश करते हैं। इसलिए, हमने प्रगतिशील रुचि वाले दर्शकों के लिए उस तरह का कंटेंट बनाने का मौका देखा। ज़ीईसी में से अधिकांश 40+ की महिलाओं को लक्षित हैं। यह चैनल 40 के नीचे के लिए होगा।”

ज़ी युवा के प्राइमटाइम बैंड में पांच फिक्शन शो होंगे। इस पर एक सप्ताहांत शो होगा और साथ ही एक घंटे के लिए एक साप्ताहिक संगीत बैंड वाला शो भी होगा। फिल्में या तो रोज़ या गैर प्राइम टाइम या देर वाले प्राइमटाइम में प्रसारित की जाएंगी।

चैनल का नॉन-फिक्शन कंटेंट, मेनलाइन ज़ीईसी द्वारा परोसे जाने वाले कंटेंट से अलग होगा। जानवलेकर ने कहा, “गैर-फिक्शन में, हम कई आइडियाज़ के साथ प्रयोग करेंगे। संपूर्ण कंटेंट की रणनीति पर एक चौंका देने वाला दृष्टिकोण है। मूल आधार यह है कि ज़ी युवा को उन सबका एक ऐसा प्लेटफॉर्म बनाया जाए जो महाराष्ट्र के युवाओं को अपील करे। हमारे रियलिटी शो, फिलहाल जो टीवी पर दिखाया जा रहा है उससे अलग हैं।”

यहां तक कि चैनल पर फिल्में भी युवाओं को अपील करेंगी। उन्होंने कहा, “हम इस तरह हमारी फिल्म लायब्रेरी को अलग रखेंगे कि 35 से 40 वर्ष की उम्र के लोगों को अपील करने वाली फिल्मों को प्राथमिकता दी जाएगी।”

ज़ी युवा सिर्फ शहरी दर्शकों ही नहीं बल्कि जनता पर भी ध्यान देगा। उन्होंने आगे कहा, “लक्षित दर्शक जनता है। यह सिर्फ शहरी क्षेत्रों को ही लक्षित नहीं है। यह उन सभी भौगोलिक क्षेत्रों के लिए है कि जिनको ‘सैरात’ कवर करता था।”

ज़ेडईईएल में डिस्ट्रीब्यूशन टीम चैनल को कैरी करने के लिए डिस्ट्रीब्यूशन प्लेटफार्मों के साथ सौदों के लिए बातचीत कर रही है। ज़ी युवा एक पे चैनल होगा। हालांकि, कीमत अभी तय नहीं की गई है।

चैनल को बढ़ावा देने के लिए मार्कटिंग अभियान डिजिटल पर शुरू किया गया है। जानवलेकर ने बताया, “हमने डिजिटल रणनीति शुरू की है। करीब दो दिन पहले हम 51 लाख पहुंच और एक दिन में 28.6 मिलियन इम्प्रेशंस के साथ नंबर 1 पर ट्रेंडिंग कर रहे थे। हमने एक प्रतियोगिता ‘युवा मणझे’ चलाई। हमें डिजिटल से बहुत अच्छी प्रतिक्रिया मिली है।”