लाइव पोस्ट
चीन में शुरू हुआ दुनिया का सबसे ऊंचा पुल, 14.40 करोड़ डॉलर से बना
नोटबंदी को लेकर तृणमूल कांग्रेस का पीएम मोदी पर कटाक्ष- 'उम्मीद है कल बड़ी घोषणा करेंगे'
सीतापुर में यात्रियों से भरी बस नदी में पलटी, बचाव कार्य जारी
झारखंड में कोयला खदान के अंदर फंसे मजदूर, 10 शव निकाले गए
दिल्ली हाई कोर्ट ने शादियों के लिए बैंक खाते से 2.5 लाख रुपए निकालने के खिलाफ याचिका खारिज़ की
संसद के दोनों सदनों में नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी दलों का हंगामा जारी
घोषित काले धन पर लगेगा 50% टैक्स, लोकसभा ने आयकर अधिनियम में संशोधन पास किया

टीडीसैट ने फास्टवे बनाम केबल ऑपरेटरों का मामला जवाब देने के लिए आगे बढ़ाया

मुंबई: दूरसंचार विवाद निपटान व अपीलीय ट्राइब्यूनल (टीडीसैट) ने अमृतसर केबल टीवी ऑपरेटर संघर्ष समिति और मालवा केबल ऑपरेटर संघर्ष समिति बनाम फास्टवे ट्रांसमिशन का मामला 13 मई तक स्थगित कर दिया है। इस मामले में दो नए प्रतिवादियों ने अपने जवाब दाखिल करने के लिए और अधिक समय मांगा था जिसके चलते मामला 13 मई तक टाल दिया गया है।

हेडएंड-इन-द-स्काई (हिट्स) ऑपरेटर नोएडा सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क लिमिटेड (एनएसटीपीएल) और मल्टी सिस्टम ऑपरेटर (एमएसओ) दिल्ली केबल नेटवर्क ने जवाब दाखिल करने के लिए और अधिक समय मांगा है।

इस मामले में ट्राई का प्रतिविधित्व प्रशांत बेजबरुआ ने किया, जबकि एनएसटीपीएल (जैनहिट्स) और दिल्ली केबल नेटवर्क का पक्ष क्रमशः जॉबी पी वर्गीज और संदीप आर्य रख रहे हैं।

इसके अलावा ट्राइब्यूनल ने दोनों नए प्रतिवादियों से 11 मई तक अपने जवाब की एक अग्रिम प्रति याचिकाकर्ताओं के वकील दिनेश रावत और अमिकस क्युरी अभिषेक मल्होत्रा को भेजने के लिए कहा है।

23 अप्रैल को हुई पिछली सुनवाई में ट्राइब्यूनल ने एनएसटीपीएल और दिल्ली केबल नेटवर्क को अभियोजित किया था। टीडीसैट ने इनसे पूछा है कि किन परिस्थितियों में उसने अमृतसर में अपना कामकाज शुरू किया और हिट्स ऑपरेटर वहां केबल ऑपरेटरों को अपने सिग्नलों की आपूर्ति किन दरों पर कर रहा है। ट्राइब्यूनल यह सुनिश्चित भी करना चाहता है कि याचिकाकर्ता के एलसीओ को उसी दर पर और समान शर्तों पर उसके सिग्नलों की आपूर्ति करने के लिए निर्देशित क्यों नहीं किया जाना चाहिए।
यह अभियोजन दिनेश रावत के आवेदन पर किया गया था। इस आवेदन में यह आरोप लगाया गया है कि हिट्स ऑपरेटर याचिकाकर्ता के केबल ऑपरेटरों को कारोबार से बाहर करने के लिए बहुत कम दर पर अमृतसर में केबल ऑपरेटरों को चैनलों की पेशकश कर रहा है और इसके लिए उसने फास्टवे से सांठगांठ की है।