लाइव पोस्ट
चीन में शुरू हुआ दुनिया का सबसे ऊंचा पुल, 14.40 करोड़ डॉलर से बना
नोटबंदी को लेकर तृणमूल कांग्रेस का पीएम मोदी पर कटाक्ष- 'उम्मीद है कल बड़ी घोषणा करेंगे'
सीतापुर में यात्रियों से भरी बस नदी में पलटी, बचाव कार्य जारी
झारखंड में कोयला खदान के अंदर फंसे मजदूर, 10 शव निकाले गए
दिल्ली हाई कोर्ट ने शादियों के लिए बैंक खाते से 2.5 लाख रुपए निकालने के खिलाफ याचिका खारिज़ की
संसद के दोनों सदनों में नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी दलों का हंगामा जारी
घोषित काले धन पर लगेगा 50% टैक्स, लोकसभा ने आयकर अधिनियम में संशोधन पास किया

ट्राई सेवा की गुणवत्ता के संशोधित मानकों पर सोमवार को करेगा नई दिल्ली में खुली चर्चा

नई दिल्ली: भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (ट्राई) पंजीकरण से संबंधित संशोधन के प्रारूप यानी, सेवा की गुणवत्ता के मानक (डिजिटल एड्रेसेबल केबल टीवी सिस्टम) (संशोधन) विनियमन, 2014 पर नई दिल्ली में सोमवार, 29 सितंबर को एक ओपन हाउस चर्चा (ओएचडी) करने जा रहा है।

यह खुली चर्चा इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में सुबर 10 बजे से शुरू होगी।

इसमें भी जो संबंधित लोग भाग लेना चाहते हैं, उन्हें अपना पंजीकरण कराना पड़ेगा। यह पंजीकरण वे sksinghal@trai.gov.in पर ईमेल भेजकर कर सकते हैं या फोन नंबर 011-23664533 पर (सुबह 10.30 बजे से शाम 5 बजे तक) करा सकते हैं। लेकिन उन्हें 26 सितंबर या उससे पहले तक पंजीकरण करा लेना होगा। केवल पंजीकृत लोगों को ही अपना फोटो पहचान-पत्र दिखाने में पर खुली चर्चा में शामिल होने दिया जाएगा।

ट्राई ने संशोधित प्रारूप में उन मल्टी-सिस्टम ऑपरेटरों (एमएसओ) और स्थानीय केबल ऑपरेटरों (एलसीओ) पर जुर्माना लगाने की सिफारिश की है जो डिजिटल एड्रेसेबल सिस्टम (डैस) के लिए बने सेवाओं के लिए गुणवत्ता विनियमन (क्यूओएस) में निर्धारित उपभोक्ता बिलिंग को लागू नहीं कर रहे हैं।

उपभोक्ता बिलिंग का पालन सुनिश्चित करने के लिए ट्राई ने इसका पालन नहीं करनेवाले एमएसओ और एलसीओ पर वित्तीय हतोत्साहन के प्रावधानों को शामिल करके क्यूओएस नियमों में संशोधन करने का प्रस्ताव किया है।

15(1) या 15(5) के नियमों का पहली बार पालन न करने के मामले में ट्राई ने वित्तीय हतोत्साहन के रूप में एमएसओ और/या उससे जुड़े हुए एलसीओ पर प्रति सब्सक्राइबर 20 रुपए की पेनाल्टी लगाने का प्रस्ताव रखा है।

अगर एमएसओ और/या उससे जुड़े हुए एलसीओ इस विनियमन का उल्लंघन एक ही ग्राहक के लिए दूसरी बार (या उसके बाद भी) करते हैं तो आगे के हर उल्लंघन के लिए एमएसओ और/या उससे जुड़े एलसीओ पर प्रति सब्सक्राइबर 50 रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा।