लाइव पोस्ट
चीन में शुरू हुआ दुनिया का सबसे ऊंचा पुल, 14.40 करोड़ डॉलर से बना
नोटबंदी को लेकर तृणमूल कांग्रेस का पीएम मोदी पर कटाक्ष- 'उम्मीद है कल बड़ी घोषणा करेंगे'
सीतापुर में यात्रियों से भरी बस नदी में पलटी, बचाव कार्य जारी
झारखंड में कोयला खदान के अंदर फंसे मजदूर, 10 शव निकाले गए
दिल्ली हाई कोर्ट ने शादियों के लिए बैंक खाते से 2.5 लाख रुपए निकालने के खिलाफ याचिका खारिज़ की
संसद के दोनों सदनों में नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी दलों का हंगामा जारी
घोषित काले धन पर लगेगा 50% टैक्स, लोकसभा ने आयकर अधिनियम में संशोधन पास किया

बच्चों का प्रभाग बनाने में सोनी लिव भी चला अन्य भारतीय ओटीटी प्लेटफॉर्मों की राह

मुंबई: भारत में ओटीटी प्लेटफार्मों के लिए, बच्चों का कंटेंट, प्रस्तुति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बनता जा रहा है। भारत में बच्चों की आबादी 39 प्रतिशत है। वायकॉम18 के वूट ने पहले से ही बच्चों के आसपास एक मजबूत आधार बना लिया है। यूट्यूब ने कल भारत में चुचुटीवी, टूंज एनिमेशन, सिसेम वर्कशॉप और अप्पू सीरीज़ जैसे अग्रणी कंटेंट क्रिएटर के साथ साझेदारी में यूट्यूब किड्स के लॉन्च की घोषणा की है।

इस ट्रैंड के साथ ताल मिलाते हुए, सोनी लिव, सोनी पिक्चर्स नेटवर्क ऑफ इंडिया (एसपीएनआई) के डिजिटल वीडियो मनोरंजन प्लेटफॉर्म ने लिव किड्स नामक एक प्रीमियम बच्चों के कंटेंट का सेक्शन शुरू किया है।

सोनी लिव द्वारा निर्मित, लिव किड्स पर फिलहाल मौजूद कंटेंट में लोकप्रिय नर्सरी गीत हैं जो समय की कसौटी पर खरे उतरे हैं, ये पूरी दुनिया में बच्चों और वयस्कों में लोकप्रिय हैं।

लोकप्रिय नर्सरी गाने जैसे ‘पॉप गॉज़ द विज़ल’, ‘ट्विंकल ट्विंकल लिटिल स्टार’, ‘हम्प्टी डम्प्टी’ और ‘व्हील्स ऑन द बस’ अब सोनी लिव पर उपलब्ध होंगे।

लिव किड्स पर भविष्य में बच्चों के लिए रोचक, आकर्षक और मनोरंजक कंटेंट पेश किया जाएगा। इन वीडियो को इसके यूट्यूब चैनल, सोनी लिव की वेबसाइट और मोबाइल ऐप्प पर देखा जा सकता है।

ताज़ा कदम सोनी लिव की उस प्रतिबद्धता को दर्शाता है जिसके तहत वह भारत में विभिन्न आयु वर्ग के यूज़र के लिए प्रासंगिक कंटेंट और डिजिटल मनोरंजन गंतव्य बनने का वादा करता है।

uday-sodhi-1एसपीएनआई के ईवीपी और डिजिटल बिज़नेस के हेड उदय सोढ़ी ने कहा, “बच्चे भारत की आबादी का 39 प्रतिशत हैं और विशिष्ट मनोरंजन आवश्यकताओं के साथ एक महत्वपूर्ण उपभोक्ता खंड में शामिल हैं।

लिव किड्स के लॉन्च के पीछे सोनी लिव की प्रतिबद्धता सबसे अच्छा और सबसे अधिक प्रासंगिक यूज़र केंद्रित मनोरंजन कंटेंट उपलब्ध कराने की है। मज़ेदार और जानकारीपूर्ण नर्सरी गानों की केटेगरी की पेशकश के साथ, हमें विश्वास है कि हमारे युवा दर्शक इस नवीनतम इजाफे का पूरा आनंद ले पाएंगे। हम निकट भविष्य में हमारे प्लेटफॉर्म पर बच्चों के लिए और अधिक कंटेंट जोड़ने में जुटे हुए हैं।”

संयोग से, वूट ने शुरुआत से ही प्रीमियम बच्चों के कंटेंट का सबसे बड़ा भंडार भारत में डिजिटल क्षेत्र में बना लिया है। कुल ट्रैफिक की 15 प्रतिशत हिस्सेदारी में वूट किड्स वूट के विकास के लिए एक महत्वपूर्ण योगदान करता है।

Gaurav-Gandhiइससे पहले एक बातचीत में वायकॉम18 में डिजिटल वेंचर्स के सीओओ गौरव गांधी ने कहा था, “हमें लगता है कि इस सेगमेंट को आकार और प्रभाव, दोनों ही लिहाज़ से बढ़ते ही जाना है और हम बच्चों के मनोरंजन का सहज डिजिटल प्लेटफॉर्म बन जाना चाहते हैं। हमारा प्रयास मां-बाप द्वारा अनुमोदित बच्चों का पसंदीदा ब्रांड बनाने का है और हम इस समुदाय को साथ लाने के लिए रोमांचक अभियान और डायल-अप कार्यक्रम चलाते रहेंगे।”

1750 घंटे के कंटेंट के साथ, 7000 से ज़्यादा वीडियो और 100 से ज़्यादा किरदारों के साथ, वूट किड्स ने प्रीमियम बच्चों के कंटेंट को अपने लॉन्च से ही कंटेंट क्यूरेट किया है।

परिवार केंद्रित कंटेंट की पेशकश करने के लिए बनाया गया ऐप्प यूट्यूब किड्स अभिभावकों को उनके बच्चों को अपनी कल्पना और जिज्ञासा की तलाश के लिए एक विकल्प प्रदान करता है। माता-पिता और बच्चे चैनल और प्लेलिस्ट को चार श्रेणियों शो, संगीत, सीखना और सर्च के तहत देख सकते हैं।

Malik-Ducardयूट्यूब के परिवार और सीखने के ग्लोबल हेड मलिक डुकार्ड ने कहा, “भारत में पहले ही बच्चों और सीखने के लिए बहुत ही विविध और तेज़ी से बढ़ता क्रिएटर आधार है। इस श्रेणी में कंटेंट साल-दर-साल 100 प्रतिशत से बढ़ रहा है। यूट्यूब किड्स लाखों भारतीय परिवारों के लिए सही समय पर आया है क्योंकि यह बच्चों को वह कंटेंट देगा जिससे उनके जीवन को समृद्ध बनाने और सीखने के नए अवसर पैदा होंगे। यह भारत के अविश्वसनीय रूप से जीवंत, कंटेंट रचनाकारों, एज्युट्यूबर्स, एनिमेशन स्टूडियो के बढ़ते समुदाय के लिए सही मंच प्रदान करता है।”